सभकर राय

प्रिय अतिथि,

अँजोरिया के पन्ना पर राउर स्वागत बा.

कई बेर महसूस कइले बानी कि कुछ पाठक पाठिका कुछ कहल चाहेलें, आपन बात, आपन विचार वगैरह आ उनुका पता ना चले कि कहाँ आपन बात कहसु. अलग अलग पोस्ट पर कमेंट ओह पोस्ट से जुड़ल होखे के चाहीं बाकिर अगर ओह पोस्ट से ना जुड़ल होखे तब कहवाँ लिखल जाव?

एही जरूरत के पूरा करे खातिर एह पेज के बनावल गइल बा. एहिजा रउरा आपन कविता, कहानी, गीत, रचना छोड़ आपन हर तरह के विचार एहिजा जाहिर कर सकीलें. बात भोजपुरी से जुड़ल होखे भा देश समाज से, फिलिम से भा गीत गवनई से, टीवी से भा राजनीति से. एह पेज पर पूरा आजादी बा आपन बात कहे के.

संपादक के काम अतने भर देखे के बा कि भाषा संयत बा, फूहड़ शब्द भा गाली गलौज के इस्तेमाल नइखे भइल, केहु पर व्यकिगत लाँछन नइखे, केहू के छीछालेदर नइखे नइखे कइल जात. ओकरा बाद राउर टिप्पणी जस के तस प्रकाशित कर दिहल जाई. साथही इहो देखल जाई कि टिप्पणी कवनो उद्देश्य से कइल गइल बा, आपन फोन नं॰, इमेल वगैरह छपवावे खातिर ना. ई सुविधा राउर राय जाने आ बतावे खातिर दिहल गंइल बा, एकरा के हमेशा ध्यान में राखीं.

अगर प्रकाशित होखे में देर लागत होखे त इंतजार करीं. बार बार पोस्ट करे के जरूरत नइखे. काल्हु जब देखे आइब त ऊ पोस्ट प्रकाशित मिली.

सादर सप्रेम,
राउर,
संपादक

Advertisements

29 Comments

  1. Hamar e filim Jai kehu na bna pailesh hum bnabtanee ja nha nam back PARO chalee sasural. Dirct of film maker Gopalbihari ( murli film & entertainment ) .Patna m audiosan hoe .all com ..09971548612 ..pranam ..bhi log ..

  2. bhojpuria logan ke taim khan ke taraf se bahot bahot payar dosto jald hi ham bhi aap logo ke liye lekar aarahe hai yek bhojpuri romantic movie sajni tohra payar me ful family movie hai achcha get koi bhi bad sin nahi mujhe ummid hai aap logo ko bahot pasand aur mazaa a ayega yek bar zarur dekhe pls thanks for aal my bhojpuriya darshak

    • mera yek sapna hai ke agar meri filme chalne lagi to us kamai se mai garibo ke liye yeh bada hospital kholunga jisme usee free dawa aur free elaj ho insha allah

  3. सेवा में
    प्रधान मंत्री
    हिन्दुश्तान
    द्वारा – भोजपुरिका
    महाशय हम भोजपुरी राश बिहारी गिरी (रवि) के सहायता से रउआ से आपन दुखड़ा सुनावे के चाहत बानी , बुरा लागी त ई समझ के माफ़ कर देम की इ एगो पीड़िता के देख के कारन निकलल ब्यथा हा ,
    हमारा संगे पहिलही धोखा भइल राज्य के बटवारा के नाम पर हमके वो समय यु पि , बिहार , और एम पि , में कर दिआइल अब काम और बिखर गइल बानी झारखण्ड , उत्तरांचल , छत्तीसगढ़ आसीत रूप से हमर पहचान बा ,
    रउआ लॉगिंग के कहनाम बा की हम राज्य भासा के अधिकारी नइखी राउर बात सही बा हम राज्य भासा के लायक हइये नइखी हम टी राष्ठभासा के लायक बानी ,
    राउये देखि जवान भासा लगभग हिन्दुस्थान में हिंदी के बाद सबसे जयादा जगह में बोलल जॉव उ राज्य भासा कैसे हो सके ला उ ता राष्ठभासा के अधिकारी बा , और हम चाहत बानी की रउआ हमर अधिकार दिलाई की हम सम्मान से सर उठाके हिंदुस्तान के बाहर भी हिंदुस्तान के गरिमा बढ़ाई ,
    एमे राउर दोस नइखे हमर संतान तनिको काम लेले ता हमके सौतेली माई लेखन बेवहार करे लगलन , बाकिर हमरा नाम पर आपन दुकान जरूर चमकावेलन , उ सब कपूतन से हमर इहे निवेदन बा की हमारा खातिर सोचसन हम मर जेब ता केकरा नाम पर तोहनी के दुकान चली , जय हिन्द जय भोजपुरी
    रउरा जबाब के इंतजार में
    रउरा देश के एगो अभागा भासा
    भोजपुरी
    द्वारा राश बिहारी गिरी (रवि)

  4. Ruawa sab k pranam ba hmar filim (cancer )k upar ban rhl ba film (sahrsa )kosi. K As pass shot holi or a he shot chal rhlaba .bannar devi films .direct maker .gopalbihari cast ..asraff .pfedeep sigh .Raman jha .hmar watsap 09971548612 gopalbihari2@gmail.com .bhi log e filim jarur Dekhi or hosla bdhe .

  5. रारुर वेबसाइट पे कुछ अश्लील गाना ने क्लिप लागल बा | “नवयुवा के पसंद” के नाम पे | कृपया कर के इ कूल्ह हटा दिही | भोजपुरी माई के सेवा में हमनी के ई कदम जरुरी बा | छोटा कदम ही सही |

    एह बेहतरीन वेबसाइट के अश्लीलता मुक्त कर के अउरी बेहतरीन करीं | जय भोजपुरी |

    राउर आपने |
    आभार : अश्विनी

    • चलीं, हटा दिहनी. उमेद बा कि ‘लोक कवि अब गाते नहीं’ उपन्यास पढ़ब. भोजपुरिया लोग अधिका इहे जानल चाहेला कि ‘कहाँ बिया पिंकिया?’ भोजपुरी के खतम करे ला एकरा गीत गवनई के मुआवल बहुते जरूरी बा. हमहू मानल लागे बानीं कि मुअत देहि पर सिंगार पटार नीक ना लागे.

      • जी धन्यवाद | लेकिन राउर बात बुझाइल ना ? अशीलता के मुक्त कइल आ भोजपुरी के ख़तम कइल; गीत-गवनई के मुवावल; आ ओकर भोजपुरी उपन्यास से का संबंध बा ?

  6. भोजपुरी ऐगो भाषा ना हमनी के मातृ भाषा हटे, कुछ अश्लील गीतकार ,अश्लील गायक लोग ,जेकरा न समाज से मतलब बाटे ना ही संस्कार से ,उनका ऊपर खली पैसा के भूत सवार बाटे ,पैसा ही सब कुछ न होला ओकरा से ऊपर समाज और संस्कार भी बहुते मायने राखेला ,भोजपुरी भाषा के नाम पर लोग खाली अपन गोरखधंधा चला रहल बाटे,खाली राजनीती कर रहल बाटे , भोजपुरी के समझे वाला लोग बहुत कम लोग बाटे, कब सुधरी हमर भोजपुरी समाज ,कई बार हल्ला होला की अबकी बार हमनी के भोजपुरी भाषा अष्ठम सूचि में शामिल हो जाई लेकिन खाली,हमनी के भाषा के मजाक बनावल जाला,हमनी के बुरबक बनावल जाला,कब मिली हमनी के माट्टी के भाषा ,हमनी के संस्कार के भाषा ,हमनी के मधुर भाषा भोजपुरी के इज्जत,एक भोजपुरी माँ के बेटवा जय भोजपुरी जय भोजपुरी माट्टी

  7. भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा के माँग जोर पकड़ता। भोजपुरिया लोग एकरा खातिर एड़ी से चोटी ले जोर लगावता पर सच्चाई ई बा की हमनी जान माई-भासा के खाली दिमागे में रखले बानी जाँ दिल में ना। जहिया माई-भासा भोजपुरी भोजपुरियन की चाल-ढाल में, बात-वेयवहार में, खान-पान में बइठ जाई, दिल में समा जाई ओइ दिने माई भोजपुरी के असली सनमान मिली।
    हम इ काहें कहल जाहतानी..एकर एगो बहुत बड़हन कारन बा…भोजपुरी के साहित्य संपदा अपार बा..पर ए के पढ़ेवाला केतना लोग बा…भोजपुरी में लिखल किताबन पर धूल जमता..ए के साफ क के दिल से लगावे वाला केतना लोग बा?? आजकल बेभ पर भोजपुरी जगमगता तिया, बहुत सारा बेभ-पत्रिका भी बानी सन पर ए के पढ़ेवाला गिना-जुना लोग बा।
    एगो नामी भोजपुरी पत्रिका बंद हो गइल त हम ओकरी संचालन मंडल से जुड़ल एक जाने भोजपुरिया से एकर कारन जानल चहनी त उ कहने की आजु ले ए पत्रिका के खाली 2 जाने ही सब्सक्राइब कइले रहल ह लोग…माने दु जाने सदस्य बनल रहल ह लोग…त पत्रिका कवनेगाँ चलावल जाव..पइसा के सहयोग पाठ लोगन से भी अच्छा हो जाव त पत्रिका आसानी से चल जानीसन..अउर पत्रिकन के विज्ञापन भी मिलेला पर अगर पत्रिका के कागजी तौर पर पढ़ेवाला 2 जाने बाटे लोग त विज्ञापन भी कवने आधार पर मिली।
    हमार रउआँ सब से इ निहोरा बा की माई-भासा के हिरदय में बसाई सब..लोग अपनी माई-भाखा खातिर बहुत कुछ करेला..त का हमनीजान खाली कुछ समय निकालि के भोजपुरी सामग्रियन पर एक नजर ना डाल सकेनीजाँ…ए से सबसे बड़हन फायदा इ होई की भोजपुरी भाषा संबंधी काम करेवाला लोगन के उत्साह बढ़ी अउर उ लोग हर कठिनाई के पार क के भोजपुरी सामग्रियन के उपलब्ध करावत रही लोग..बस हमनी जान के संस्थावाद आदि से ऊपर उठि के तनि एसा जोर लगवले के ताक बा।। विचार करीं।। माई-भासा के सनमान करीं।

    • anjoria aila se humni k maii bhasa anjor ho gail..Bhaiya rauaa jawan comment dele bani hum okar samarthan kartani…..Jawan bhgya me hoii mil jaii,usaro me gulab khil jaii,himmat k bandh na ture k na ta patthro k kaleja hil jaii…

  8. संपादक जी ! “आवऽ लवट चलीं (उपन्यास)” पूरा नइखे … एकर पूरा लिंक दी सात के बाद आगे नइखे आवत …..

    • http://anjoria.com/v1/sahitya/lavatichali8.htm

      धन्यवाद केशव जी,

      कई बरीस से ई उपन्यास एहिजा पड़ल बा, आजु ले केहू ना पूछे आइल कि अगिला कड़ी कहाँ बा.

      लिंक में छूटल गलती सुधार दिहले बानी.

      राउर,
      ओम

  9. हमार एगो सलाह बा कि सब लेख आदि में तारीख देवल जाय। बिना तारीख के देखला से आच्छा लागी। आ दोसर बात कि गुजराती कैथी लिपि ह कि ना? त बतावतानी।

    http://en.wikibooks.org/wiki/Gujarati/Alphabet
    http://languagereef.com/alphabets.php?lang=GUJARATI
    http://en.wikipedia.org/wiki/Gujarati_script पर देखीं। आ कुछ फोटो भेजतानी ऊ देखीं जवन हम हिन्दी आ भाषा के महान शोधकर्ता विमलेश कान्ति वर्मा जी के किताब से लेके भेजतानी। विमलेश जी अद्भुत लेख हईं। भारत सरकार के प्रकाशन विभाग से ऊहाँ बहुते किताब प्रकाशित बा।

    क, झ, ण, त, ध, फ आदि अक्षर छोर के सब त साँचहूँ एके बा। बहुत बन्हिया बात खोजले बानी।

  10. Really its very tremendous job to open such type of regoinal site.
    In fact. Bhojpuri is one of the sweetest language among all the regoinal languages. So whomever, started he/she did very good job.
    My best compliements with him,

    Ishwar hamesha sadbudhi dey.

    Regards
    Vinod Kumar
    Ballia