भोजपुरी सिनेमा के टटका फिल्म ‘पागल प्रेमी’ के संगीत भारते ना, सात समुंदर पार अनेक देशन में सुनल जा सकेला. काहे कि एकर संगीत जानल मानल संगीत कंपनी ‘वर्ल्ड वाईड रिकार्ड्स’ एकही साथ पूरा दुनिया में पिछला दिने जारी कइलसि. आनलाइनो एकरा गाना के इंटरनेट से खूबे डाउनलोड कइल जापूरा पढ़ीं…

Advertisements

फिलिम आ आपन किरदार चुने में रिंकू घोष के महारत हासिल बा. इहे कारण ह कि हर फिलिम में रिंकू घोष के काम के गुणगान ज़रूर होला. ‘बिदाई’, ‘बलिदान’, ‘केहू हमसे जीत ना पाई’, ‘सईंया ड्राईवर बीबी खलासी’ आ ‘भईया हमार दयावान’ से ई बात साबित होला कि रिंकू घोषपूरा पढ़ीं…

– हरेन्द्र कुमार पाण्डेय योगेश्वर नाम रखले रहस उनकर मास्टर चाचा जवन कलकाता में पढ़ावत रहस. स्कूल में भरती का समय राउत जी मास्टर साहेब ठीक (!) कइलन युगेश्वर. लेकिन गांव में सबका खातिर उ जिंदगी भर आ मरलो के बाद जुगेसरे रहस. शिवदत्त महतो के बेटा जुगेसर परसाद. बड़ापूरा पढ़ीं…

– इं॰ राजेश्वर सिंह लाली के दर्जा पांच पास कइले के बाद छह से पढ़ाई खातिर दुइ किलोमीटर दूर बनल इन्टर कालेज में जाये के पड़ल. घर से तैयार होइके नव बजे सवेरे घर से निकले के पड़े. काहे से कि पइदले जाये के रहे. कवनो सवारी क साधन नापूरा पढ़ीं…

गोरखपुर के भोजपुरी संगम के छब्बीसवीं बइठकी पिछला ८ अप्रेल २०१२ के डा॰ सत्यमवदा शर्मा “सत्यम” के शाहपुर आवास पर भइल. एकरे पहिले पारी में युवा कहानीकार अवधेश शर्मा “सेन” के कहानी “बदलाव” पर बातचीत में कवि , साहित्यकार रूद्रदेव नारायण श्रीवास्तव के आलेख पढ़त डा॰ अभिजीत शुक्ल कहलीं किपूरा पढ़ीं…

सिनेमा भोजपुरी के होखे आ ओहमें आइटम नंबर ना होखे ई भला कइसे हो सकेला? फिलिम अपना कहानी का दम पर कम आइटम नंबर से अधिका सुर्खी में रहेलीं सँ. कुछ लोग त इहाँ ले कहेला कि आइटम डांस के बिना फिलिम अधूरा लागेले. लोग थियेटर में मनोरंजन ला आवेलापूरा पढ़ीं…

कड़ा संघर्ष, कड़ा मेहनत, सरल सुभाव, मीठ बोलिया आ हरफन मौला कलाकार कबो पीछे ना रहि सके. एहिजा बात होखत बा सफल अभिनेता मनोज द्विवेदी के. जिनका देरे से सही बाकिर सफलता के मंजिल मिलिए गइल. अपना पहिलका भोजपुरी फ़िलिम “बैरी भईले सईयाँ हमार” के नायक से आपन कैरियर शुरूपूरा पढ़ीं…

साउथ के सुपर स्टार रजनीकांत आ हिंदी सुपर स्टार आमिर खान क तरहे भोजपुरी सिनेमा के रंगबाज स्टार हैदर काजमी ओ सबले पहिले स्क्रिप्ट देखेलें आ स्क्रिप्ट भा गइल तबहिये हाँ कहेलें. हैदर काजमी के आजु काल्हु पूरा भोजपुरी वर्ल्ड बधाई देत बा काहे कि उनुकर ‘कालिया’ के फस्ट लुकपूरा पढ़ीं…

हर तरह के भूमिका सहजे कर के कवनो किरदार में जान डाल देबे वाला सशक्त अभिनेता धर्मेन्द्र सिंह के कवनो जवाब नइखे. अभिनेता धर्मेन्द्र सिंह अपना नयका फिल्म “धरती गगन के प्रीत” के शूटिंग पूरा कर लिहलन. एकर निर्माता रंजू शर्मा आ निर्देशक रमा शंकर हउवें. एह निर्माणाधीन फ़िल्म मेंपूरा पढ़ीं…

नंद किशोर फिल्मस एण्ड इंटरटेन्मेंट के बैनर तरे बनत भोजपुरी फिल्म ‘‘अंतिम तांडव’’ क संगीतमय मुहूर्त पिछला दिने अंधेरी के एमफारयू स्टूडियो में कइल गइल. एह मौका पर फिल्म उद्योग के अनेके गणमान्य लोग उपस्थित रहल जइसे कि राकेश त्रिपाठी, बाबी सिंह, सचिन यादव, लवी श्रीवास्तव, रमाकांत मिश्रा, संजय भूषणपूरा पढ़ीं…

आदर्श युवक के सम्मोहक प्रेम के सूत्र में बंधल सामाजिक ताना बाना ‘जुगेसर’ उपन्यास एगो अइसन व्यापक फलक वाला आधुनिक उपन्यास ह जवना में गांव अउर शहर दूनों के सामाजिक परिस्थिति अउर चुनौती के वस्तुपरक ढंग से बहुत व्यापक अर्थ में चित्रण बा. कथानक के पात्र खाली व्यक्ति ना हउअनपूरा पढ़ीं…