भोजपुरी अबहीं संविधान के अठवीं अनुसूची में शामिल होखे खातिर संघर्ष करत बिया. जबकि भारत के साहित्य अकादमी भारतीय साहित्य निर्माता का रूप में भिखारी ठाकुर आ धरीछन मिश्र का बाद अब भोजपुरी के नामी गिरामी कवि मोती बीए पर एगो किताब प्रकाशित कइलसि ह. इहे ना बलुक पछिला बरिसनपूरा पढ़ीं…

Advertisements

जननायक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 64 वाँ जनमदिन के अखण्ड भारत सेवा सकंल्प के रूप में मनावत पूर्वी दिल्ली के भाजपा कार्यकर्ता लोग का बीच सांसद मनोज तिवारी कहलन कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के आशीर्वाद से पूर्वी यूपी में विकास के गंगा बहा दीहें. एह अवसर पर भाजपा जिलापूरा पढ़ीं…

यमन के राजधानी सना के उपनगर वादी धाहर में शिया मुस्लिम बागी आ कबाइलियन का बीच लड़ाई में बीस लोग मारल गइल. केंद्रीय सतर्कता आयुक्त आ सतर्कता आयुक्त के बहाली प्रक्रिया में माथ अदालत के बात ना माने का आरोप पर सुप्रीम कोर्ट आजु एटर्नी जनरल मुकुल रोहतगी से स्थितिपूरा पढ़ीं…

लागत ब कि मउराइल लोग फेरु मउराइल हो गइल बा. जान में जान आ गइल बा. कहल जात बा कि दहाड़त शेर प काबू पा लिहले बाड़े जंगल के सियार लोमड़ी आ मूस. बस अब तनिका जोर लगावे के बा आ शेर के बाहर क दिहल जाई. आ हम सोचतपूरा पढ़ीं…

उच्चतम न्यायालय आजु केंद्र सरकार से पूछलसि कि अवैध हथियारन के बिक्री में शामिल सेना के अधिकारियनो के ओही तरह सजा दिहल जाव जइसे कवनो गरीब के दस रुपिया चोरावे खातिर तीन महीना के जेल दिहल जाला. बिहार में संविदा पर काम करत सैकड़ों अंचल अमीन आजु से आपन मांगपूरा पढ़ीं…

लद्दाख से भाजपा सांसद पीएम से गोहार कइलन कि पीछे ना हट के चीन के मुकाबला कइल जाव. चीन आपन हद पार क दिहले बा. देमचोक इलाका के लोग चीनी घुसपैठ के विरोध कइल. इसरो मंगलयान के मंगल के कक्षा में प्रवेश करावे वाला निर्देश अपलोड कइल शुरू कइलसि. जम्मू-कश्मीरपूरा पढ़ीं…

बात कहिले खर्रा, गोली लागे चाहे छर्रा. कहे सुने ला त ई ठीक लागी बाकिर बेवहार मे आदमी सोच समुझ के बोलेला. साँच बोलल जरूरी होखेला बाकिर जहाँ ले हो सके अप्रिय भा कड़वा साँच से बचे के चाहीं. एगो अउर मुहावरा आएदिन इस्तेमाल होखेला आ उ ह पालिटिकली करेक्ट.पूरा पढ़ीं…

– जयंती पांडेय मोदी जी जापान गइले. उहां जा के जान जा रामचेला तासा बजवले. कतहत बड़हन काम कइले. लेकिन आहु पर विवाद हो गइल. कई गो प्रगतिशील भाई लोग पेट बिगड़ गइल. अतने ना मोदी जी खदे जापान में कहले कि राजा और प्रधानमंत्री के गीता दीहला पर देशपूरा पढ़ीं…

-आसिफ रोहतासवी अब ना बाँची जान बुझाता बाबूजी लोग भइल हैवान बुझाता बाबूजी पढ़ल लिखल हमनी के सब गुरमाटी बा उनका वेद कुरान बुझाता बाबूजी आपुस में टंसन बा फिर हमरा गाँवे खेत जरी, खरिहान बुझाता बाबूजी बबुआ तऽ अबहींए आँख तरेरऽता एक दिन बनी महान बुझाता बाबूजी सटलीं पेवनपूरा पढ़ीं…

चार दिन के वियतनाम दौरा पर राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी वियतनाम चहुँपलन. दिल्ली में उनुका के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी औपचारिक विदाई दिहलन. केन्द्रीय महिला आ बाल विकास मंत्री मेनका गांधी कहले बाड़ी कि देश में व्यापार खातिर होखे वाला जानवरन के कत्ल रोकल जाव. कहली कि आजु दुनिया भर में सबलेपूरा पढ़ीं…

(1) छलकत तलफत नजर, त बरबस गजल भइल. लहसल लहकत दहर, त बरबस गजल भइल. अद बद पनघट पर जब परबत पसर गइल, सइ-सइ लहरल लहर, त बरबस गजल भइल. चटकल दरपन चमकल दहक-सहक बन-बन, समय गइल जब ठहर, त बरबस गजल भइल. अलकन पर, मद भरल नयन, मनहर तनपूरा पढ़ीं…