बियफे का भोर मे उगत आदित्य के अर्घ देके चार दिन चलेवाला महापर्व छठ के समापन हो गइल. त्रिनिदाद आ टोबैगो में एगो भारतीय मूल के लड़िकी के क्लास मे तबले आवे से मना क दिहल गइल जब ले ओकरा हाथ में लागल मेंहदी के रंग छूट नइखे जात. मेंहदीपूरा पढ़ीं…

Advertisements

भोजपुरी सिनेमा में जब लेखक, निर्देशक, अभिनेता, गीतकार, निर्माता, कहानी लेखक सबकुछ एके आदमी हो सकेला त फिलिम बनला का बाद वितरक आ दर्शको के काम ओकरे पर रहे के चाहीं कि ना? फिलिम बनावल टीम वर्क होला बाकिर कुछ भोजपुरी फिलिमन में सगरी टीम के खरचा बचा के एकेपूरा पढ़ीं…

– जयंती पांडेय अचके रामचेला आ के कहले बाबा लस्टमानंद से कि हो बाबा जानऽ तारऽ ई मोदी सरकार जे बा नऽ से झूठहुं हाला मचवले बा कि महंगी कम हो गइल, लेकिन सांचो महंगी कम कहां भइल बा. जवन एक दूगो चीज के दाम घटल बा ऊ तऽ चांसपूरा पढ़ीं…

छठ महापर्व का तिसरा दिने आजु व्रती लोग नदी तालाब पोखरा समुद्र का किनारे पानी में खड़ा होके डूबत सूरज के अर्घ दिहल. काल्हु सबेरे उगत सूरज के अर्घ दिहला का साथे चार दिन चले वाला ई महापर्व पूरा हो जाई. विश्व बैंक अपना नया रपट में कहले बावे किपूरा पढ़ीं…

पिछला दिने पश्चिम बंगाल के दक्षिण परगना जिला में भइल मारपीट का बाद तृणमूल कांग्रेस गोल आजु अपना नेता अराबुल इस्लाम के छह बरीस ला गोल से निकाल दिहलसि. एह वारदात में दू आदमी के मौत हो गइल रहे. महाराष्ट्र में सबले बड़का गोल बन के उभरल भाजपा आजु अपनापूरा पढ़ीं…

उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ के गोहार पर आजु राज्य के लेखपाल बेमियादी हड़ताल पर चल गइले. बस्ती जिला के महुअर गाँव का लगे आजु आगो ट्रक से टकरा के एगो मोटरसाइकिल सवार के मौत हो गइल. मोटरसाइकिल पर सवार दोसरका आदमी घवाहिल हो के बाँच गइल बा. पश्चिम बंगाल केपूरा पढ़ीं…

– – ओमप्रकाश सिंह आजुए ईमेल से मिलल भोजपुरी पंचायत पत्रिका के नवम्बर 2014 अंक देखि के मन मिजाज खुश हो गइल. अगर भोजपुरी से छोह के बात हटा दिहल जाव त पत्रिका के कलेवर बहुते स्तरीय बा. सोना पर सोहागा वाला बाति होखीत अगर ई पत्रिका भोजपुरी में छपलपूरा पढ़ीं…

– मनोज श्रीवास्तव केहू के जब आपन खाली घर-दुआर आ आपन गाँव जवार छुटेला त मन केतना भारी हो जाला आ तब त आपन देसे छुटल रहे. ओह घरी कवनो सुख से केहू आपन घर-दुआर, गाँव-जवार भा देसे छोड़ के परदेस थोड़े गइल रहे लोग. खाली अपना परिवार के जीवनपूरा पढ़ीं…

– आलोक पुराणिक एगो कंपनी के चेयरमैन बुढ़ा गइल रहे. जमाना का चाल का हिसाब से ओकर सगरी बेटा-बेटी विदेश में सैटल हो गइल रहले. ओह जमाना में हर समझदार पुरनिआ अपना बाल बच्चन के इहे समुझावल करत रहे कि अगर तोहरा में काबिलियत बा त फेर इंडिया में काहेपूरा पढ़ीं…

पिछला अतवार के बाबा लस्टमानंद से भेंट हो गइल. बाबा के आदेश भइल कि हम बतकुच्चन में झाड़ू पर चरचा करीं. बाबा के त ना बतवनी बाकिर रउरा के बता देत बानी कि पिछला साल अगस्त में एगो कड़ी में एकर चरचा कइले रहीं. आजु ओकरे में कुछ बात फेरूपूरा पढ़ीं…

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आजु एनडीए के सांसदन के अपना डेरा प चाय नाश्ता खातिर बोलवले रहले. एह मौका पर शिवसेना के सगरी सांसद मौजूद रहले. पार्टी में पीएम मोदी सभे के गोहार लगवले कि अपना अपना संसदीय इलाका में स्‍वच्‍छ भारत अभियान के प्रभावी तरीका से लागू करावे लोग. हरियाणापूरा पढ़ीं…