Month: दिसम्बर 2014

भोजपुरी साहित्यकार डा॰ अशोक द्विवेदी के मिली “लोककवि सम्मान”

पंडित विद्यानिवास मिश्र के जयंती का मौका पर 14 जनवरी 2015 का दिने भोजपुरी के महान साहित्यकार डा॰ अशोक द्विवेदी के ‘लोककवि सम्मान’ से सम्मानित कइल जाई. पंडित विद्यानिवास मिश्र…

भोजपुरी निबन्ध प्रतियोगिता

भोजपुरी में लिखल आ कृति फान्ट भा यूनिकोड में टाइप कइल ‘हमार गाँव (……………..) जतना हम जानीं’ मथैला वाला निबन्ध गाँव में रहे व‌ालन से माँगल जात बा. एह लेख…

जिए भोजपुरी ! बाकिर जिए त जिए कइसे?

भोजपुरीए ना हिन्दीओ पत्रिकन के प्रकाशन आजुकाल्हु मुश्किल हो गइल बा काहे कि एक त लोग पढ़े के आदत छोड़ दिहले बा आ दोसरे किताब खरीदे के. रोज रोज के…

मंत्री जी भोजपुरी का बारे में रउरा वादा के का भइल?

एक साल पहिले अखिल भारतीय भोजपुरी साहित्य सम्मेलन के रजत जयन्ती अधिवेशन पटना में 28-29 दिसंबर 2013 के करावल गइल रहे. तब एह मौका पर ओह घरी भाजपा के महासचिव…

बनचरी (दुसरकी कड़ी)

– डा॰ अशोक द्विवेदी भयावह आ भकसावन लागे वाला ऊ बन सँचहूँ रहस्यमय लागत रहे. जब-तब उहाँ ठहरल अथाह सन्नााटा अनचीन्ह अदृश्य जीव जन्तु भा पक्षियन का फड़फड़ाहट से टूट…

पूर्वांचली आपन हिस्सा मंगले दिल्ली का चुनाव में

21 दिसंबर के भाजपा के उत्तरी-पूर्वी दिल्ली से सांसद मनोज तिवारी का घर पर दिल्ली विधानसभा के होखे वाला चुनाव में पूर्वांचलियन के मौजूदा स्थिती आ भागीदारी पर विस्तार से…

भउजी हो! अगहन में जोगीरा

भउजी हो! का बबुआ? काल्हु चौक प एगो आदमी के देखनी जे अगहन में जोगीरा गावत रहुवे. होखी कवनो पागल. अइसनका लोग से दूरे रहे के चाहीं. ठीके कहतारू भउजी.…

विश्वस्तरीय ट्रेन सफर के माजा खतम हो जाई

– जयंती पांडेय रेलगाड़ी आ रेलवे टीसनन के वर्ल्ड क्लास बनावे के चरचा जोर पर बा. मोदी जी दनादन विदेश जा रहल बाड़े आ उहां से फटाफट विचार ले के…