No Image

आसिफ रोहतासवी के दू गो गजल

March 31, 2015 Editor 0

-आसिफ रोहतासवी (एक) फेड़न के औकात बताई कहियो अइसन आन्ही आई. घामा पर हक इनको बाटे पियराइल दुबियो हरियाई. पाँव जरे चाहे तरुवाए चलहीं से […]

Advertisements
No Image

कलयुग

March 30, 2015 Editor 0

– डॉ॰ उमेशजी ओझा रउरा मानी चाहे ना मानी, बाकिर धोखाघड़ी, ठगी आ एक दोसरा के टॉग खींचे के जमाना में ईमानदारी के मजे मजा […]

No Image

भगवान के चटकन

March 23, 2015 Editor 2

– डॉ॰ उमेशजी ओझा अरे ए रबिन्दरा, आपन दिमाग ठीक राख, जमीन प रहेके सीख, हवा में मत उड़. सब कोर्इ के इजत होला. जोऽ, […]

No Image

नवका रहन अउर चाल ढाल

March 23, 2015 Editor 0

– जयंती पांडेय गरमी के पसीना से तर-बर भइल रामचेला हाफत-डाफत गुरू लस्टमानंद का लगे पहुँचले. सस्टांग दंडवत कइके आशीर्वाद लेहला के बाद रामचेला कहलन, […]

No Image

जेएनयू के भारतीय भाषा केन्द्र में भइल परिचर्चा आ काव्यपाठ

March 21, 2015 Editor 0

“‘पाती’ पत्रिका भोजपुरी रचनाशीलता के आंदोलन के क्रांति-पताका हऽ. ‘पाती’ माने, नयकी पीढ़ी के नाँवे सांस्कृतिक चिट्ठी. एगो चुपचाप चले वाला सांस्कृतिक आंदोलन हवे ‘पाती’, […]

No Image

बच के निकल जा इस नगरी से ..

March 14, 2015 Editor 1

भोजपुरी मनोरंजन उद्योग अबहीं हीरो पवन सिंह के पत्नी के खुदकुशी का दुख से उबरलो ना रहुवे कि एगो अउर भोजपुरी गायक अपना संगे अपना […]

No Image

रहे एगो आस रे…

March 5, 2015 Editor 4

– ओमप्रकाश अमृतांशु डहके मतरिया रे , छछनेली तिरिया, बाबुजी बांधत बाड़न, बबुआ के लाश रे, जिनिगी के जिनिका पे रहे एगो आस रे. ढरकत […]