साहब बुझले पियाज, सहबाइन बुझली अदरख. ना ना, बतावे के कवनो जरूरत नइखे कि हम गलत कहाउत कहत बानी. असल कहाउत हमरो मालूम बा बाकिर सेकुरल कब कवना बात प बवाल मचा दीहें केहु ना बता सके. आ मतलब बात समुझवला से बा, कहाउत के माने भा ओकरा शब्दन सेपूरा पढ़ीं…

Advertisements

कहल जाला कि बाते से आदमी पान खाला आ बाते से लातो खाला. एके बतिया केहू के मजाक लागेला आ केहू के आपन बेइज्जति. भोजपुरी में बहुते कहाउत बाड़ी सँ जवनन के आजु के सामाजिक हालात में दोहरावल ना जा सके. खास क के ऊ सब कहाउत जवना में समाजपूरा पढ़ीं…

पिछला सोमार 25 जुलाई, 2016 का दिने दिल्‍ली के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में भोजपुरी समाज, दिल्‍ली आ राजस्‍थानी भाषा मान्‍यता समिति दुनू मिल के आयोजित केन्‍द्रीय वित्‍त राज्‍यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल के सम्‍मान समारोह आयोजित कइलें जवना मे भोजपुरी, राजस्‍थानी अउर भोटी भाषा के संविधान के आठवीं अनुसूची में शामिलपूरा पढ़ीं…

बात के खासियते होला कहीं से चल के कहीं ले चहुँप जाए के. कहल त इहो जाला कि एक बार निकलल ध्वनि हमेशा खातिर अंतरिक्ष में मौजूद हो जाले. आजु पइसार आ पसार के चरचा करे बइठल हम त पसोपेश में बड़ले बानी कि कहाँ से शुरु कइल जाव. काहेपूरा पढ़ीं…

भोजपुरी के एगो महान कवि रहलन महेन्दर मिसिर. उनुका के पूरबी गीतन के जनक मानल जाला. मिसिर जी के लिखल पूरबी अपना शृंगार रस का चलते बहुते लोकप्रिय भइली सँ. ओहि गीतन में से एगो गीत रहुवे – अंगुरी में डँसले बिया नगिनिया रे ननदी, भईया के जगा द. भईयापूरा पढ़ीं…

एगो, एकगो, आ एकेगो का चक्करघिन्नी में कई दिन से दिमाग में चकोह जस चलत बा आ हम ओहीमें खिंचाइल चलल जात बानी. थाह नइखे लागत कि कइसे एह चकोह से बहरी निकलीं. हिन्दी वाले त एह मामला में एक ही शब्द एक बना के निकल गइलें बाकिर भोजपुरी मेंपूरा पढ़ीं…

दक्षिणी दिल्ली बदरपुर के मीठापुर चौक पर विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर लाल कला मंच के ओर से जागरुकता आ काब्य गोष्ठी के आयोजन कइल गइल. जेकर मुख्य उद्देश्य रहे जनसंख्या विस्फोट से होए वाला प्रभाव के कम करे के आ जनसंख्या के दर कइसे कम कइल जा सकेलापूरा पढ़ीं…

शबद सहारे राखिये, शबद के हाथ न पाँव. एक शबद औषधि बने, एक शबद करे घाव. दीनदयाल विश्वविद्यालय गोरखपुर के हिन्दी विभागाध्यक्ष रहल प्रो. रामदेव शुक्ल कबीरदास के लिखल एह दोहा के दोहरावत कहलन कि स्व. सत्यनारायण मिश्र सत्तन कमे लिखलन बाकिर जवन लिखलन तवन बेहतर लिखलन. ऊ पिछला मंगलपूरा पढ़ीं…

– ‍हरिराम पाण्डेय उत्तर प्रदेश एह घरी भारत के सियासत के ड्राइंगबोर्ड बन के बइठल बा. एकरा अलग अलग हिस्सा पर अलग अलग गोल तरह तरह के चित्र बनावे में लागल बाड़ें. कांग्रेस प्रगतिशील उदार ब्राह्मणवाद के हवा देत बिया, त भाजपा कट्टरहिंदूवाद के चित्र बनावत बिया. मौजूदा मुख्यमंत्री अखिलेशपूरा पढ़ीं…

एह साल के अबले के सबले बड़ आ चर्चित रहल भोजपुरी फिलिम गदर अब मुंबई में २२ जुलाई से प्रदर्शित होखे वाली बा. ई फिलिम बिहार में पहिलहीं से गदर मचवले बिया आ कई एक सिनेमाघर में ई लगातार हाउसफुल चलत बिया. मुंबई में रहे वाला बाकिर उत्तर भारत सेपूरा पढ़ीं…

भोजपुरी जगत के सबले बड़हन सितारा जुबली स्टार दिनेशलाल यादव ‘‘निरहुआ’’ आ भोजपुरी के अव्वल अदाकारा आम्रपाली दूबे के जलवा भोजपुरिया बॉक्स ऑफिस पर ईद का समय सगरी हिन्दुस्तान में देखे के मिलल. एह जोड़ी के फिलिम ‘‘निरहुआ चलल ससुराल – 2’’ ईद का मौका पर मुम्बई, गुजरात अउर यू०पी०पूरा पढ़ीं…