Month: जुलाई 2017

रामनाथ कोविन्द देश के 14वाँ राष्ट्रपति

20 जुलाई 2017 का दिने संघ के प्रचारक स्वंयसेवक, भाजपा के नेता, आ हाल फिलहाल में बिहार के राज्यपाल रहल रामनाथ कोविन्द जी के देश के 14वाँ राष्ट्रपति का रुप…

हर रंग में रंगाइल : ‘फगुआ के पहरा’

– केशव मोहन पाण्डेय एगो किताब के भूमिका में रवीन्द्रनाथ श्रीवास्तव ऊर्फ जुगानी भाई लिखले बाड़े कि ‘भाषा आ भोजन के सवाल एक-दोसरा से हमेशा जुड़ल रहेला. जवने जगही क भाषा गरीब…

देश के पीएम कायर बाड़ें – बतंगड़ 45

– ओ. पी. सिंह नानी किहाँ से आवते नतिया एगो ज्ञान के बात बघार दिहलसि कि अपना देश के पीएम कायर बाड़ें. अब ऊ एह बात के जवना संदर्भ में…

नानी कही बतिया रे, आइल हमार नतिया रे – बतंगड़ 44

– ओ. पी. सिंह लइकाईं के गावल सुनल दू गो लाइन याद आवत बा – नानी किहाँ जाएब, पुअवा पकाएब। नानी कही बतिया रे, आइल हमार नतिया रे. ममहर जाए…

कहिया ले दिल्ली के दुलारी भोजपुरिया

– हरेंद्र हिमकर कहिया ले अाशा के तमाशा चली भाई लोगिन ? कहिया ले दिल्ली के दुलारी भोजपुरिया? कहिया ले मान मिली माई भोजपुरिया के? कहिया ले बात से ठगाई…

एह जुग में केकर बा कवनो भरोसा !

– गुरविन्दर सिंह राह घाट लउके ना, छपलस अन्हरिया झिमिर झिमिर बरसेले करिया बदरिया! खेतवा में मकई के गाड़ल मचानी सूतल बा जाके बलमु अभिमानी निनिया उड़ावेले चिन्ता फिकिरिया! डर…

गोरखपुर भोजपुरी संगम के बइठकी

‘भोजपुरी संगम’ क 89 वीं बइठकी स्व.सत्तन जी के आवास पर दू सत्र में वरिष्ठ रचनाकार सूर्य देव पाठक ‘पराग’ जी के अध्यक्षता आ धर्मेन्द्र त्रिपाठी के संचालन में सम्पन्न…

बेमतलब औकातो के थाह लाग गइल – बतंगड़ 43

– ओ. पी. सिंह मोदी जी के सरकार बनला का बादे से हरमेश कुछ ना कुछ अइसन होत गइल जवन मुश्किल से बरदाश्त करत गइल आदमी. बाकिर अबकी जवन भइल…

चलीं दिल्ली…….. भोजपुरी खातिर विशाल धरना प्रदर्शन

चलीं दिल्ली…….. भोजपुरी खातिर विशाल धरना प्रदर्शन 9 अगस्त 2017 का दिने दिल्ली के जंतर मंतर पर होई भोजपुरिया जुटान भोजपुरी के संवैधानिक मान्यता आ आठवीं अनुसूची में शामिल करावे…