Advertisements

Category: भोजपुरिया लाल

लोकमन के चितेरा भिखारी ठाकुर

-डा.अशोक द्विवेदी लोकमन आ लोकरंग के चतुर चितेरा भिखारी ठाकुर आजुओ भोजपुरी के सबसे चर्चित व्यक्ति बाड़न. केहू उनके समय-संदर्भ के सर्वाधिक चर्चित नाटककार का रूप में, भोजपुरी के ‘शेक्सपियर’ मानल त केहू भोजपुरी...

Read More

दोकाहें चल गइलन सत्तन

– देवेन्द्र आर्य जाए के उमिरो ना रहल आ अइसन कवनो जल्दबाजिओ ना रहुवे. निकहा नीमन चलत गोष्ठी के परवान चढ़ा, ईद के मुबारकबाद देत आखिरी सलाम क लिहलन. ना दोस्तन के कुछ करे के मौका दिहलन ना घरवालन के. दिल के दर्द के गैस समुझत रह...

Read More

रामायन शैली के असाधारण ब्यास गायत्री ठाकुर अब नइखन

भोजपुरी संगीत के एगो बहुत बड़ पुरोधा चलि गइल, बिसवास नइखे होत बाकिर ई साँच बा. रामायन शैली के अपना समय के सबसे बड़ आ स्थापित गायक ब्यास गायत्री ठाकुर अब नइखन. ठाकुरजी खाली गायके ना रहीं बलुक आसु गीतकारो रहीं. रामायन,महाभारत आ...

Read More

मनोरंजन के मिठास में सांच के तिंताई घोरे के जोखिम उठवलें भिखारी ठाकुर

– विपिन बहार सांच कहीं त भिखारी ठाकुर जइसन महान हस्ती प टीका टिप्पणी करे के अधिकार हमरा जइसन तुच्छ आदमी के नइखे. हम त बस उनका कृतित्व आ व्यक्तित्व के मनन चिंतन क के पसंगो भर अपना जिनिगी में ढाल लिहीं त धन समझब. अब पता ना इ...

Read More

भोजपुरी लोकरंग के वैश्विक कलाकार : भिखारी ठाकुर

– मुन्ना कुमार पाण्डेय (शोधार्थी) “अबहीं नाम भईल बा थोरा । जब यह छूट जाई तन मोरा ।। तेकरा बाद पच्चास बरीसा । तेकरा बाद बीस दस तीसा ।। तेकरा बाद नाम हो जईहन । पंडित कवि सज्जन जस गईहन ।। (१) आज हम उनकर जन्मदिन पर इहाँ दिल्ली...

Read More

जनाब 'मिर्जा खोंच' अब नइखन

डूब गइल भोजपुरी व्यंग्य के चमकत सितारा. जनाब ‘मिर्जा खोंच’ (1.9.1952 – 19.11.2013) अब हमनी के बीचे ना रहनी. आजु सबेरे हम पटना पुस्तक मेला से लवटि के दिल्ली अइनी ह. फोन पर करीब 12 बजे के आस पास बेतिया के उर्दू...

Read More

बिजली में तड़प केतना होला अनजान बदरिया का जानी!

देश के बड़ गीतकार गोपालदास नीरज लिखले बाड़े – “गीत अगर मर जायेंगे तो क्या यहाँ रह जायेगा एक सिसकता आसुओं का कारवां रह जायेगा ” गोपालगंज (बिहार) जिला के कटेया अंचल में जनमल राधा मोहन चौबे ‘अंजन’ जी...

Read More
Loading
Advertisements

Categories

ट्वीटर पर अँजोरिया