हम बार बार बता चुकल बानी कि महुआ टीवी भा कवनो फिल्म कंपनी से अँजोरिया के कवनो व्यावसायिक संपर्क नइखे. अँजोरिया के मकसद भोजपुरी फिल्म आ टीवी के नया नया हालचाल अपना पाठकन तक चहुँपा दिहल तक सीमित बा. तबो कुछ पाठक बड़ा रिगिर आ निहोरा पर उतर जालें कि हम गाना गावल चाहत बानी, हम एक्टिंग करत चाहत बानी वगैरह वगैरह. जबकि अँजोरिया ओह लोग के एह दिशाईँ कवनो मदद ना कर सके.

हँ अगर रउरा लगे कवनो गाना के रिकार्डिंग बा भा कवनो नाटक सिनेमा थियेटर में काम करे के अनुभव बा त अपना बारे में विस्तार से लिख भेजीं, आपन फोटो वगैरहो भेज सकीलें. अगर प्रकाशन योग्य होखी त अँजोरिया पर प्रकाशित कर दिहल जाई. एक बेर हम अइसनका सगरी पाठकन के चेताइयो दिहल चाहत बानी कि एह समुंदर में बड़का बड़का मगरमच्छ बइठल बाड़न जवन मौका पावते रउरा के सोझहगे निगल जइहें आ डकारो ना लीहें. अगर कवनो आदमी भा संस्था रउरा के कहत बा कि ऊ रउरा के मौका दिहल चाहत बा बाकिर कुछ खरचा पानी देबे के पड़ी त ओह आदमी भा संस्था से जतना जल्दी जतना दूर भागल हो सके भाग जाईं. बाद में रोवल छोड़ के कुछ ना भैंटाई.

हँ महुआ टीवी के आडिशन खुलेआम सूचना दे के कइल जाला. ओहमें समय पर आवेदन दे के शामिल होखे के कोशिश करत रहीं. एह बेर ना त ओह बेर, अगर रउरा लगे काबिलियत बा त रउरा मौका मिलिये जाई. हँ अगर ओहू में केहू शामिल करावे के जोगाड़ बइठावे के दावा करे त ओकरो से सावधान. बंसी पर चारा एही खातिर लपेटल जाले कि कवनो मछरी फँस जाव!

राउर,
अँजोरिया सम्पादक

Advertisements