काल्हु से अँजोरिया पर पोल करावल शुरु गइल बा. चूंकि ई नया प्लगइन बा हो सकेला कि कुछ दिक्कत सामने आवे. बाकिर रउरा सभे से निहोरा बा कि रोज आपन वोट डाले के आदत डाल लीं. एहसे पता चलत रही कि अँजोरिया के पाठक समुदाय के आपन पसन्द का बा. कवनो जरुरी नइखे कि रोज राजनीतिके सवाल रही. बाकिर पोल के स्वभाव इहे होला कि ओह दिन का ज्वलन्त मुद्दा पर अपना पाठकन के राय जानल जाव. पोल के परिणाम रउरा सभकर राय पर देख सकीलें.

दोसरे एगो अउरी निहोरा बा कि यदि संभव होखे त ट्विटर पर अँजोरिया के फॉलो करे के शुरुआत कर दीं. रउरे सभ का भरोसे अतना लागल रहीलें.

संपादक, अँजोरिया

Advertisements