रउरा से में से बहुत लोग पिछला दू दिन से हैरान रहल होखी कि अँजोरिया फेर पूरा तरह वापिस आ पाई कि ना. संयोग आ दू दिन के परेशानी का बाद निनानबे फीसदी अँजोरिया फेर से काम करे लागल बा. थोड़ बहुत परेशानी बा उहो ठीक हो जाई.

एह संकट का घड़ी में रउरा अँजोरिया का साथे रहनी एह बात के खुशी बा. अँजोरिया पर आवे वाला पाठक दुनिया के कवनो दोसरा भोजपुरी वेबसाइट का मुकाबिले बेसी समय गुजारेले आ बेसी पन्ना पलटेले. हँ गिनती में जरुर कम पाठक आवेले बाकिर हमरा ओकर कवनो अफसोस नइखे. हम जानत बानी कि भोजपुरी से प्रेम बा त अँजोरिया पर देर सबेर आवहीं के बा. दोसरे हम कबीर के लाइन पर चलीले कि “कबीरा खड़ा बाजार में, सबकी पूछे खैर, ना काहू से दोस्ती ना काहू से बैर.” जहाँ तक पार लागेला कोशिश रहेला कि भोजपुरी के अलख जगवले राखल जाव. नयकी पीढ़ी के भोजपुरी से जोड़े खातिर नेट सबसे कारगर माध्यम ह आ एह पर भोजपुरी के दमदार मौजूदगी बनल रहे के चाहीं.

अँजोरिया के इहो खुशी बा कि एह काम में ऊ अकेले नइखे लागल. बहुते लोग एह काम में अपना अपना तरीका से लागल बा. ओहमें से केहू से रउरा विरोध हो सकेला बाकिर ओहमें से केहू के नजरअन्दाज ना कइल जा सके. एह मैदान में जेही बा से ही बावन हाथ के. अबर हो सकेला दूबरो हो सकेला बाकिर भाई में बरोबरे ना बेसी होखे के भाव त जरुरे खा सकेला.

आजु एह खुशनुमा मौका पर हम फेर भोजपुरी सेवा का प्रति आपन प्रतिबद्धता जतावत बानी.

भोजपुरी के दुनिया हमेशा अँजोर बनल रहो,

एही आशा आ विश्चास का साथ,

राउर,
ओम

पुनश्च: पिछला दिने हम भावावेश में ओह हैकर के कुछ बुरा भला कह दिहले रहीं. बाकिर आजु लागत बा कि ऊ आदमी धन्यवाद के पात्र बा जे बतवलसि कि कहाँ कहाँ कमजोरी बा. हैकिंग का बाद वेबसाइट के उहे हाल होला जवन इन्कम टैक्स के छापा पड़ला का बाद कवनो व्यवसायी के होला. कुछ दिन ले जरुर बाउर लागेला बाकिर जइसे जइसे हिसाब किताब दुरुस्त राखे के आदत पड़े लागेला तइसे तइसे जिनिगी खुशगवार होखे लागेला. टैक्स बचावल राउर अधिकार हो सकेला टैक्स चोरी ना. वेबसाइट के सुरक्षा पर ओहि तरह नियमित ध्यान देत रहला के जरुरत होला. कोशिश रहे के चाहीं कि नियमित रुप से अपना कम्प्यूटर आ वेबसाइट के बैकअप लेत रहीं.

Advertisements