शनिचर का दिने थोड़िका देर खातिर लागल रहे कि बाबा रामदेव के राजनीतिक अवसान हो गइल बा जब कपिल सिब्बल दगाबाजी करके बाबा रामदेव का तरफ से मिलल लिखल सहमति पत्र के सार्वजनिक कर दिहले. मीडिया तब बाबा रामदेव पर हमलावर हो गइल रहे आ लागत रहे कि बस काल्हु भोरे होत होत बाबा रामदेव के सगरी हवा निकल जाई. बाकिर कांग्रेस नेतृत्व के नालायकी का चलते रात में सूतल आन्दोलनकारियन पर लाठीचार्ज आ आंसू गैस के गोला छोड़ के तितर बितर करा दिहल गइल आ बाबा रामदेव के गिरफ्तार कर लिहल गइल. सरकार के एह बेवकूफ हरकत से पूरा देश बाबा रामदेव से भइल अन्याय का खिलाफ एकजुट हो गइल बा. पूरा देश से बस एगो आदमी, हमनी के लालू भईया, जे चारा घोटाला के महानायक का रुप में आरोपित रहले, सरकार के सराहना कइले. अतवार का दिने पूरा देश में जगहे जगहे धरना प्रदर्शन होखे लागल. साँझ सात बजे से भाजपा दिल्ली में आ देश के हर हिस्सा में, जहँवो ओकर मौजूदगी बा, चौबीस घंटा के सत्याग्रह शुरु कर दिहलसि.

सरकार के बेवकूफी का चलते पहिले त बाबा रामदेव के ऊ सम्मान दिहल गइल जवन कवनो राष्ट्राध्यक्ष के दिहल जाला आ जब बाबा रामदेव सरकार का चालबाजी में ना फँसले तब उनुका पर बर्बर पुलिसिया हमला करा दिहल गइल. बतावल जा रहल बा कि एह हमला का पाछे सोनिया गाँधी के सहमति आ मनमोहन सिंह के स्वीकृति रहल. दिल्ली पुलिस मनमोहने सिंह का जिम्मे बा काहे कि दिल्ली पुलिस के नियन्त्रण दिल्ली सरकार के नइखे दिहल गइल.

बाबा रामदेव के लिखित समझौता देखा के उनुका के दोषी ठहरावे वाला सरकार भुला गइल कि ओकरो प्रतिनिधि पिछला पाँच दिन से बाबा रामदेव का खिलाफ तड़ीपार आदेश तब ले अपना पाकिट में ले के घुमले जबले बाबा रामदेव से समझौता के उमेद खतम ना हो गइल. हमेशा का तरह कांग्रेस के दिग्गी राजा बाबा रामदेव का खिलाफ तरह तरह के आरोप लगा रहल बाड़े. बाकिर दिग्गी राजा के खुद के छवि अतना खराब हो चुकल बा कि “ओसामाजी” के एह सेवक के कवनो मोल नइखे रहि गइल देशवासियन का सामने.

बाबा रामदेव पर भइल हमला के सबले बड़ नुकसान जवन कांग्रेसियन के भइल बा ऊ बा कि सोनिया गाँधी फेर से अपना विदेशी मूल का चलते देश का निशाना पर आ गइल बाड़ी. कांग्रेस जवना बेहयाई का साथे हिन्दू धर्मावलम्बियन पर हमला कर रहल बिया ओहसे काग्रेस पर चर्च के पिछलग्गू होखे के आरोप चिपके लागल बा. इटली से आइल महारानी अपना साथे वेटिकनो के नाम घसीटवावत बाड़ी. भगवान कांग्रेस आ कांग्रेसियन के सद्बुद्धि देसु !

Advertisements