नब्बे का दशक में एक से एक फूहड़ गीत लिखे वाला गीतकार बिपिन बहार अब ओहसे तौबा कर लिहले बाड़न. पहिले ऊ बस एगो स्टार खातिर गीत लिखत रहले बाकिर अब हर कलाकार खातिर लिखत बाड़े. सत्तर चूहा खा के बिलाई चलल हज के वाला अंदाज में अब बिपिन बहार भोजपुरी भाषा खातिर संवेदनशील बन गइल बाड़न आ भोजपुरी के पहिला लाइब्रेरी खोले के श्रेय अपना नामे लिखा लिहले बाड़े. पिछला दिने उदय भगत से बातचीत करत बिपिन बहार आपन सफाई पेश करत कहलन कि तब के ऊ सब फूहड़ गीत समय आ श्रोता लोग का माँग पर लिखाइल रहे. आजुवो भोजपुरी इलाकन में शादी बिआह का समय दुअर्थी गीत गावल जाले. ओह घरी जब ऊ बढ़िया लिखे के चहले त उनुका के रोक दिहल गइल. कहे लोग कि साधु जन बनऽ. लोग गरियावत बा , मतलब तू सफल बाड़ऽ! एहसे देर त जरुर भइल सुधरे में बाकिर अब खुश बानी.

एगो खास स्टार से नजदीकि का बात पर बिपिन बहार के कहना रहे कि नजदीकी के लोग गलत मतलब निकाल लिहल. बाकिर अब सभका खातिर आ हर संगीतकार खातिर लिखत बाड़े बिपिन बहार. अपना गरम मिजाज का बारे में बिपिन बहार के कहना रहे कि ऊ केहु के अनाचार बरदाश्त ना कर पावसु. चाहे बिहार झारखण्ड में शूटिंग के मसला रहल भा अवार्ड में गड़बड़ी के मसला, बिपिन के दावा बा कि ऊ हमेशा साच लिखलन बोललन. उनुकर इहो कहना बा कि उनुके मेहनत से म्यूजिक कंपनी गीतकारन के पारिश्रमिक बढ़वली सँ.

अभिनय के आपन शौक बतावत बिपिन के कहना रहे कि अगर कवनो निर्माता अभिनय खातिर दाम देता त तइयार हो जाले काहे कि रुपिया केकरा ना भावे. बियाह, भोजपुरिया डोन, मुन्ना पाण्डेय बेरोजगार में बिपिन के अभिनय के लोग खूब सराहल. अबही हालहू में ऊ अजीत आनन्द का साथे प्रेम लगन के शूटिग कर के लवटल बाड़े. बिपिन बहार कई गो फिल्मन में अभिनय करत बाड़े.

बिपिन बहार अपना बातचीत में बहुते साफगोई से कहले कि गलत प्रचार प्रसार से भोजपुरी सिनेमा के बहुते नुकसान भइल बा. हि्न्दी सिनेमा के गॉसिप छपेला बाकिर भोजपुरी सिनेमा के गलत खबर. एहसे देखेवाला लोग भरमा जाला. आजु हर बकवास फिल्मो के सुपर हिट लिखात बा आ जब दर्शक ई पढ़ के सिनेमा देखे जात बा त गरियावत बाहर आवत बा. दोसरे भोजपुरी सिनेमा के गुटबाजियो एकर बड़का दुश्मन बा.


(स्रोत – उदय भगत)

By Editor

One thought on “कवनो दायरा में ना बन्हल चाहसु बिपिन बहार”
  1. राउर वक्त्व्य आछा लगल ! रउरा असही आपन लेखनि के आगे बढवत रही हामार शुभकामना रउरा साथे बा!

कुछ त कहीं...

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.