गायन के क्षेत्र में अपनी साख जमाने के बाद से ही ‘‘बिरहा सम्राट’’ ओमप्रकाश सिंह यादव का सपना रहा था फिल्मी सुनहरे पर्दे पर अपना हुनर दिखाने का. मगर एक गरीब परिवार में जनमे ओमप्रकाश सिंह यादव के लिए ये सपना ही रह गया था. पर कहते हैं कि ‘‘होनहार बिरवान के होत चिकने पात’’. बिल्कुल इसी कहावत की तरह ये अपने गायन के क्षेत्र में एक के बाद एक कामयाबी बटोरते गये और एक दिन ऐसा भी आया कि ‘‘बिरहा सम्राट’’ के खिताब से नवाजे गये तथा इन पर नज़र पड़ी मशहूर उद्यमी व नेता सुभाष पासी जी की. जिन्हें भोजपुरी कलाकारों का जनक भी कहा जाता है. जब सुभाष पासी जी ने अपने विशाल मंच पर ओमप्रकाश सिंह यादव को गाते हुए देखा तो इन्हें अपनी आने वाली फिल्म ‘‘बूटन’’ में बतौर नायक अनुबन्धित कर लिया.

फिल्म ‘‘बूटन’’ के बारे में ओमप्रकाश सिंह यादव का कहना कि ये फिल्म आज की भोजपुरी फिल्मों लिए दिशा-निर्देश होगी और शायद यह पहली भोजपुरी फिल्म होगी जो हर एक भोजपुरी दर्शक का मन मोह लेगी अर्थात मनोरंजन में खरी साबित होगी.

इस फिल्म की निर्मात्री – रीना एस. पासी तथा लेखक, छायाकार व निर्देशक एस. कुमार है. मुख्य कलाकार- ओमप्रकाश सिंह यादव, मीरामूर्ती, सुरेन्द्र पाल, रिया, नैना, मोतीचन्द पासी व अलीखान है. गीत – विनय बिहारी व अवध बिहारी (मितवा), संगीत – राजेश गुप्ता, नृत्य-कानू मुखर्जी एवं मारधाड़- आर. पी. यादव, दिलीप यादव व हीरा यादव का है.


(स्रोत – रामजी)

 260 total views,  2 views today

By Editor

%d bloggers like this: