भोजपुरी सिनेमा में एह घरी एगो फिलिम के बहुते चरचा होखत बा. ई फिलिम हवे ‘अचल रहे सुहाग’. नाईटविस्टलर्स इंटरटेनमेंट के बैनर तले बनल ई फिलिम पारिवारिक हवे जवना में भोजपुरी माटी के सोन्ह खूशबू मिली. फिलिम के गाना त अबहिये से लोग का जुबान पर चढ़ गइल बाड़ी सँ आ धूम मचवले बाड़ी सँ. चढ़ल लव के बुखार, बदरिया से झांके चंदा, अइसन पियवा कहँवा पाईब, आ तीज गीत अउर चइता सभका जुबान पर चढ़ गइल बा आ हर जगहे सुनल जात बा. इहो गौरतलब बा कि सगरी गाना सुने में नीक आ साफ सुथर बाड़ी सँ.

गीत लिखल हवे फणिन्द्र राव, पप्पू ओझा, अभिजीत मिश्रा आ अजय कुमार के आ एह गीतन के संगीत हवे देवर्षि के. आवाज दिहले बाड़े उदित नारायण, भरत शर्मा व्यास, मालिनी अवस्थी, कल्पना, इंदू सोनाली, आलोक कुमार, मोहन राठौर, पुर्णिमा, आ रीमीधर.

फिल्म के संगीत टी. सिरीज जारी कइले बावे. निर्माता सुमित केन, विकास शर्मा आ निर्देशक अभिलाष शर्मा हउवे. फिल्म फरवरी में रिलीज कइल जाई.


(प्रशांत निशांत के रपट)

Advertisements