निर्माता के सेफ करके चलेले सुनील सिन्हा

भोजपुरी सिनेमा के प्रतिभावान निर्देशक सुनील सिंह के कहना बा कि ऊ अपना निर्माता के सेफ करके चलेलें. मतलब कि उनुकर कोशिश रहेला कि फिल्म के लागत कम रहो आ फिल्म बाक्स आफिस पर सफल रहे. कई गो हिट फिल्म निर्देशित कर चुकल सुनील सिन्हा के नयकी फिल्म “लागल नथुनिया के धक्का” हालही में रिलीज भइल बा. माई के दुलार, सुहागन बना द सजना हमार, दुल्हा अइसन चाहीं, अँखिया लड़िये गगइल, पीजीह चरन माई बाप के निर्देशक रहल सुनील सिन्हा के कैरियर के शुरुआत हिन्दी फिल्म “दामूल” से भइल जवना में ऊ निर्देशक प्रकाश झा के सहायक रहले. बाद में कल्पतरु का साथहु कई गो फिल्म के सहायक निर्देशक रहले. कलाकारन का भीतर छिपल प्रतिभा के पहचाने में सक्षम सुनील सिन्हा दिव्या देसाई, स्वीटी छाबड़ा, अवधेश मिश्रा जइसन बहुते कलाकारन के पहिला मौका दिहले आ ऊ कलाकार आज कवनो परिचय के मोहताज नइखन.

सुनील सिन्हा के चिन्ता खास कर एह बात से बा कि आजु लोग हिन्दी फिल्म के भोजपुरी में बनावे लागल बा जवन भोजपुरी सिनेमा के विकास खातिर नीक नइखे. कहलें कि भोजपुरी सिनेमा में बढ़िया कहानी आ संगीत के बहुत कमी बा. भोजपुरी सिनेमा के विकास खातिर सुनील सिन्हा चाहत बाड़न कि स्टार आ वितरकन के एह बाति के ध्यान राखे के चाहीं कि निर्माता के अधिकतम फायदा मिल सको जवना से ऊ फेर अगिला फिल्म बनावे के हिम्मत कर सको.

लागल नथुनिया के धक्का का बारे में सुनील सिन्हा के दावा बा कि अइसन कहानी अबले फिल्मन में देखे के ना मिलल होई. एह फिल्म में एगो संदेश बा कि चकाचौंध का दुनिया में ना जा के सामने के दुनिया में विश्वास राखे के चाहीं. एह फिल्म में पवन सिंह, आरती पुरी, कृष्णा खंडेलवाल, अवधेश मिश्रा, विजय खरे वगैरह के खास भूमिका बा.


(स्रोत – समरजीत)

Advertisements

1 Comment

  1. Mai ek writer hu. Mere paas bhojpuri ke bahuhat acchi acchi har tarah ki kahani hai. Samjh me nahi aa raha hai ki kaha jai. Mere pas itana paisa bhi nahi hai ki khud ki film bana sake. Madad kariye please.

Comments are closed.