भोजपुरी सिनेमा ला गोरखपुर हमेशा से भाग्यशाली रहल बा. एहिजे फिल्मावल “ससुरा बड़ा पइसावाला” हालफिलहाल के सबले सफल फिल्मन में गिनल जाला. एहिजे फिल्मावल सुनील बुबना के फिल्म “कहाँ जइबा राजा नजरिया लड़ाई के” सुपर डुपर रहल रहे. आ अब एहिजे फिल्मावल जा रहल बा “केहू हमसे जीत ना पाई”.

डा॰वजाहत करीम आ डा॰ सुरहित करीम के निर्माण एह फिल्म के निर्देशक हउवें एम आई राज. पिछला दिने एह फिल्म के शूटिंग देखे खातिर फिल्म के प्रचारक शशिकांत सिंह आ रंजन सिन्हा का बोलावा पर पत्रकारन के टीम गोरखपुर चहुँपल त ओह लोग के होटल क्लार्क में ठहरावल गइल. शूटिंग रामगढ़ ताल पर होत रहुवे जहाँ पानी के फव्वारा का साथ एगो रोमांटिक सीन फिल्मावल जात रहुवे. जवन गाना पर शूटिंग होत रहुवे ओकर बोल रहे, जींस के उपर टाइट कुर्ती, टूटे ना बटनिया. एही गाना पर नृत्य निर्देशक रामदेवन का निर्देशन में रवि किशन आ रिंकू घोष एक दोसरा के प्यार का तरणताल में डूबल रहलें. सबेरे सात बजे से शुरु शूटिंग दुपहरिया एक बजे ले चलल. रवि किशन आ रिंकू घोष के उत्तेजक सीन के फिल्मावे में सबले बड़ दिक्कत रहले दर्शक. ओह लोग के भीड़ हटावल बहुते बड़ काम बनल रहे.

शूटिंग का बाद रविकिशन कहले कि शूटिंग करत घरी ऊ सीन मे पूरा तरह डूब जालें तबहिये सीन बन पावेला. आखिर दर्शकन के तीन घंटाले बान्ह बझा के राखे के होला. फिल्म का कहानी का बारे में निर्माता डा॰ करीम के कहना रहे कि देशभक्ति का थीम पर बनल एह फिल्म मे रविकिशन एगो फौजी कमांडर बनल बाड़े जे दुश्मन से लड़े खातिर गाँव के नौजवानन के फौज तइयार करत बाड़े. रिंकू घोष कर्नल के बेटी बाड़ी जे रविकिशन से प्यार करे लागत बाड़ी आ उहो उनुका फौज में शामिल हो जात बाड़ी.

केहू हमसे जीत ना पाई में रविकिशन आ रिंकू घोष का साथ सुशील सिंह, मनोज टाइगर, मोहित घई, हितेन्द्र पाण्डे, प्रतिभा पांडे, स्वाति वर्मा, कोमल ढिल्लन, श्रीकंकनी, अयाज खान, अरुण बख्शी, दीपा ग्रेवाल, प्रमिला, शाहबाज खान वगैरह लोग के खासमखास भूमिका बा.


(स्रोत – शशिकान्त सिंह, रंजन सिन्हा)

Advertisements

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.