सिनेमा भोजपुरी में फिलिम “लहू के दो रंग” के कामयाबी पूरा सुर्ख़ी में बा, हालांकि एह फिलिम के मुख्य जोड़ी खेसारीलाल यादव आ अंजना सिंह के बा बाकिर जेकर सबले बेसी चरचा होखत बा ऊ हउवन अभिनेता राजेश राज. अपना पहिलके फिलिम में राजेश राज जवन धमाकेदार परफोर्मेंस दिहले तवन सभकर दिल जीत लिहले बा. मजबूत कद-काठी आ कसरती बदन वाला राजेश राज जब परदा पर विलेन के धोवत नजर आवत बाड़े त ऊ कतहीं से झूठ नइखन लागत. छत्तीसगढ़ के एह छहफुटिया छोकरा के फर्श से अर्श ले चहुँपे के कहानीओ कवनो कम फिलिमी नइखे.

इलाहाबाद से ताल्लुक राखे वाला राजेश राज एक समय छत्तीसगढ़ के गलियन में तरकारी बेचत रहले. बाकि ख्वाहिश में दम होखे त ओकरा हकीकत बनत देर ना लागे. से रुपहले परदा पर लउके के तेज लालासा, मेहनत आ किस्मत के संजोग से राजेश राज के सपना साकार हो गइल. “लहू के दो रंग” से मिलल कामयाबी क बाद अब राजेश राज अपना ख्वाहिशन के अउर परवान चढ़ा सकेले. एह फिलिम में राजेश के एक्शन सीन्स एतना दमदार आ विश्वसनीय लागत बा कि उनुका के अबहिए से भोजपुरी के नयका एंग्रीयंग मैन कहल जाए लागल बा.

अभिनेता राजेश राज के मानना ह कि एक्टिंग सीखे सिखावे के बात ना ह. ई त एगो पैदाइशी कला ह जवन समय आ परिवेश का हिसाब से आगे बढेले. बकौल राजेश राज ऊ अपना किरदार के निभावस ना जिएले आ एही चलते उनुकर अभिनय लाउड ना लागे.


(स्पेस क्रिएटिव मीडिया)

Advertisements