महज चौदह साल का उमिर में अपना जमाना के मशहूर गायिका बिजली रानी से गीत गवावल अपना आप में बहुते खास होला आ ई कमाल कर देखवले संतोष पुरी. तब ऊ संतोष गिरी का नाम से गीत लिखल करसु बाकिर लोकप्रियता मिलल उनुका लिखल हिट गीत ‘ आइले मोरे राजा….’ से जवना के मशहूर गायिका देवी गवली आ एही गीत का जरिये देवी के मशहूर गायिका का रूप में पहचान मिलल. संतोष के दोसर हिट एलबम रहल ‘राजधानी पकड़ के आ जाइयो’. वइसे हिट गीत ‘पुरबा बयार’ ओ संतोषे के लिखल ह.

संतोष पूरी बतावेले कि दसे साल का उमिर से गीत लिखल शुरू कर दिहले रहले आ तेरह साल के उमिर आवत स्कूल से भाग के मुंबई आ गइले. एहिजा के गलियन में भटकत संतोष पर संयोग से निर्देशक रहीम खान के नजर पड़ल आ रहीम खान संतोष पुरी के अपना घर में शरण दे दिहले. फेर हिन्दी फिल्म ‘जेहाद’ में गीत लिखे के मौको दिहले. एकरा आवाज मिलल सपना अवस्थी अउर मोहम्मद अजीज के. छोट उमिर का चलते संतोष के छहे महीना में घर के इयाद सतावे लागल आ ऊ गाँवे लवटि गइलन.

सागर इलेक्ट्रानिक, बाकरगंज के विद्या सागर गुप्ता के संतोष आपन गॉड फादर मानेले. संतोष के लिखल गीत उदत नारायण, सुरेश वाढकर, कैलाश खेर, विनोद राठौड़, रूप कमार राठौड़, सुख विंदर मो अजीज, सपना अवस्थी, जावेद अली वगैरह गायक गा चुकल बाड़े. पवन सिंह के पहिलका “रंगली चुनरिया तोहरे नाम से” में संतोष पूरा आठ गो गीत लिखलन आ ऊ गीट हिटो भइली स. फेर हिट रहल निरहुआ रिक्शावाला के गीत ‘बलिया बारात जाई’. संतोष एकरा अलावे रामपुर के लक्ष्मण, मृत्युंजय, संता, राम लखन, बिदेसिया, दिल तोहरे प्यार में पागल हो गईल, आ एक दूजे के लिए खातिर गीत लिखले बाड़े. हिन्दी फिल्म तरकश, जलसा आ घर की देवी के गीतो संतोष लिखले बाड़े.


(अपना न्यूज के भेजल रपट)

Advertisements