भोजपुरिये में सबकुछ : रसोई

भोजन बनावे में कुशल महतारी, चाची, भउजाई, बहिन लोग से आग्रह बा कि अइसनका कवनो व्यंजन बनावे के विधि बताईं जवना के अकेले रहे वाला आदमी आसानी से बना सको आ घर के खाना के आनन्द उठा सको. हर हफ्ता एगो व्यंजन विधि के प्रकाशित कइल जाई. व्यंजन विधि विस्तार में दिहल जाव त बढ़िया रही. मान के चलीं कि सामने वाला के कुछुवो ना आवे गैस स्टोव जरावल आ चाय बनावल छोड़ के.

Advertisements

Be the first to comment on "भोजपुरिये में सबकुछ : रसोई"

Leave a Reply

%d bloggers like this: