भोजन बनावे में कुशल महतारी, चाची, भउजाई, बहिन लोग से आग्रह बा कि अइसनका कवनो व्यंजन बनावे के विधि बताईं जवना के अकेले रहे वाला आदमी आसानी से बना सको आ घर के खाना के आनन्द उठा सको. हर हफ्ता एगो व्यंजन विधि के प्रकाशित कइल जाई. व्यंजन विधि विस्तार में दिहल जाव त बढ़िया रही. मान के चलीं कि सामने वाला के कुछुवो ना आवे गैस स्टोव जरावल आ चाय बनावल छोड़ के.

[Total: 0    Average: 0/5]
Advertisements