Yoddha-poster
भोजपुरी सिनेमा जगत में ई सबसे शर्म के बात सामने आल बा कि साल के खतम होखे से पहिलहीं साल के सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के अवार्ड दे दिहल गइल बा. आ ई अवार्ड मिलल बा भोजपुरी सिनेमा जगत के सुपरस्टार कहाए वाला अभिनेता रविकिशन के. एह बात के पुष्टि संजय भूषण पटियाला पाटलिपुत्र न्यूज के फेसबुक पेज पर कइले रहले. जवना के बाद में उ हटा दिहले. ओह पर कुछ लोग बधाई आ कुछ लोग एह अवार्ड पर अचरजो जतावल.

संजय भूषण पटियाला लिखले रहन कि साल 2014 के सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के अवार्ड मुम्बई में ‘आप की आवाज’ के जरिए आयोजित भइल भोजपुरी अवार्ड समारोह में फिलिम ‘योद्धा’ खातिर रविकिशन के दिहल गइल. लेकिन अवार्ड देबे वाला के ई पता होखे के चाहीं कि साल के सर्वश्रेष्ठ अवार्ड साल के अंत भइला के बाद दिहल जाला. अबहीं त एह साल भोजपुरी के कई एक बड़ फिलिम प्रदर्शित होखे वाला बा चाहे हाल में भइल बा जवना में नगीना, विजयपथ-एगो जंग, लाडला सहित केतना बड़ फिलिम के नाम शामिल बावे. त ई अवार्ड साल के खतम होखे के 2 महीना पहिलहीं कइसे मिल गइल?

एह से तऽ एगो बात साफ बा कि या त अवार्ड देबे में कवनो दोहरी नीति खेलल गइल बा. ना त अवार्डे गलत दिहल गइल बा, चाहे अवार्ड देबे वाला के अवार्ड देबे के लूर नइखे. कुछ अइसने लोगन के चलते आज भोजपुरी सिनेमा जगत के ई दुर्गती हो रहल बा. सभे चारो ओर मजाक बना रहल बा. एही लोगन के चलते अवार्ड के गरिमो खतम हो रहल बा. जवन कि भोजपुरी सिनेमा जगत खातिर घोर शर्म के बात बा.

अभिनेता आदित्य मोहन कहत बाड़न कि रविकिशन जी हमनी के आइडियल बानी. लेकिन साल के खतम होखे से पहिलहीं सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के जवन अवार्ड दिहल गइल बा. उ एकदम से गलत बा. एह से सगरी आज भोजपुरी सिनेमा कलाकारन के मिले वाला अवार्ड पर भी सवालिया निशान लाग गइल बा आ सगरी मजाक उड़ रहल बा.


(संकेत कुमार)

Advertisements