काहे बँसुरिया बजवले
रे सुधि बिसरवले
गइल सुख चैन हमार.
काहे बँसुरिया बजवले
रे सुधि बिसरवले
गइल सुख चैन हमार.
काहे बँसुरिया बजवले.

कँटवा कँटईहा कुछ नाहीं देखलीं
हो कुछ नाहीं देखली.
कँटवा कँकरिया कुछ नाहीं देखलीं
हो कुछ
खोजत खोजत तोहे इहाँ चलि अइली
काहे के मतिया फिरवले, रे डगरी भुलवले
गइल सुख चैन हमार.
काहे बँसुरिया बजवले.

गाँव गिरामिन मारेला बोलिया
हो मारेला बोलिया.
गाँव गिरामिन मारेला बोलिया
हो मारेला बोलिया.
संग के सहेलिया करेला ठिठोलिया.
काहे के नाम धरवले रे दगिया लगवले.
गइल सूख चैन हमार.
काहे बँसुरिया बजवले.

तोरी बँसुरिया में गिनती के छेदवा
हो गिनती के छेदवा.
तोरी बँसुरिया में गिनती के छेदवा
हो गिनती के छेदवा.
मनवा हमार पिया छलनी भइल बा.
काहे के पिरीत बढ़वले रे अगिया लगवले
गइल सूख चैन हमार.
काहे बँसुरिया बजवले.
रे सुधि बिसरवले
गइल सुख चैन हमार.
काहे बँसुरिया बजवले


अँजोरिया पर पहिले से मौजूद दोसर गीत

Advertisements

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.