“बढ़त बिहार चढ़त बिहार, लिखत बिहार पढ़त बिहार. भारत के गरदन के हार, आपन बिहार, आपन बिहार.”

पिछला दिने दिल्ली में आयोजित बिहार दिवस समारोह का अवसर पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में भोजपुरी सिनेमा के मेगा स्टार मनोज तिवारी अपना गायकी से समाँ बना दिहलन आ ओहिजा मौजूद सगरी बिहारियन के छाती अउर चौड़ा हो गइल.

दिल्ली के सिरीफोर्ट सभागार में आपन गायकी का माध्यम से मनोज तिवारी मुंबई दिल्ली जइसन शहरन में दुख अपमान झेलत बिहारियन के पीड़ा पेश करत गवलन “बांबे दिल्ली के कइलऽ गुलजार हो, बिहार आपन सुन्न भइल राजा जी” त सभकर आँख छलछला गइल. फेर गवलन “गाँव के सिवनवा के खेत खरिहनवा, नाही भुलाला घर जवार ए गोरी, गउँवा बोला लऽ हमार ऐ गोरी”.

उनुका से पहिले मालिनी अवस्थी दुनिया में प्रजातंत्र के शुरुआत करे वाला राज्य का रुप में बिहार के जिक्र कइली. कहली कि यूपी हमार माई ह आ बिहार हमार मउसी. बाकिर मउसी से जतना प्यार दुलार हमरा मिलल ऊ महतारियो ले बढ़के रहल. मालिनी के गाना “सईंयाँ मिलल लड़कईयाँ, मैं का करूँ” पर त पूरा सभागार झूमे लागल रहे.

कार्यक्रम के आयोजन बिहार सरकार के उद्योग विभाग कइले रहुवे आ एह मौका पर बिहार सरकार के सचिव सी के मिश्रा, रेजिडेंट कमिश्नर आलोक चतुर्वेदी, भारत सरकार के सचिव अनिल उपाध्याय, दिल्ली के भोजपुरी समाज के अध्यक्ष अजीत दुबे, भाजपा सांसद पूनम आजाद समेत कई देशन के राजदूतो मौजूद रहले.

Advertisements