भउजी हो! हैप्पी होली!

का बबुआ ? रउरो अगरेज बनि गइनी का ?

ना भउजी.बाकिर चारो ओर देखि के लागल कि इहे कहल ठीक रही. देखतानी कि जे सुबहित एक लाइन अंगरेजी ना बोल सके उहो एक दोसरा के हैप्पी होली बोलत बा.

कबो सोचनी कि काहे अइसन होखत बा ?

ना. तू बता सकेलू का ?

आदमी अब अपने में सिमटल जात बा. होली उल्लास के, खुशी के तेहवार ह. एहमें कवनो औपचारिकता ना रहत रहे. काहे कि औपचारिक रहत एक दोसरा पर कादो पानी रंग गोबर ना फेंकल जा सके. ई सब या त अनौपचारिक रहि के कर सकीलें भा बेपरवाह रहि के. जेकरा गरियावे के होखे गरिया लेव हम त अपने मन के करब. बाकिर अब लोग का मन से अपनापन खतम होखल जात बा. परबो तेहवार रस्म अदायगी जइसन बनि गइल बा. से लोग निभा लेत बा. आ औपचारिकता खातिर अंगरेजी में हैप्पी होली बोलल सहज लागेला. होली के बधाई भा शुभकामना बोले खातिर त होरिहार बने के पड़ी.

बतिया त हमेशा का तरह अबकियो ठीक बोललू. अरे रे रे हई का ? मार दिहलू फचाक से हरदी के घोल.

त करीं का ? भोरे अइनी ना, आइल बानी अबीर का बेर. बाकिर हमरा ओह से का? राउर कपड़ा खराब होखे त होखो हम आपन काम कइसे छोड़ दीं.

बाकिर हम त अबीरे ले के आइल बानी चलऽ उहे लगा देत बानी.

 81 total views,  5 views today

3 thoughts on “भउजी हो! हैप्पी होली!”

Comments are closed.

%d bloggers like this: