ओरहन का पाग में यादों की गठरी

(पुस्तक समीक्षा) डॉ आशारानी लाल के लिखल उनुका दाम्पत्य जीवन के यादगारन के आत्मकथात्मक किताब यादों की गठरी पढ़े के मिलल त लाख चहला का बादो एके बेर में ना…

निर्गुण आ भजन – गोपाल दूबे

निर्गुण – देह दुनिया भरम ह बलवान करम गति,भीतरी के सांच भीतरीये पहचान ले,बुद्धि कुबुद्धि के फेरा में उलझि मत,नर सेवा ही सांचो नरायन जप मान ले. केतनो तू मंहगा…

जब इनकाउंटर से बाचे खातिर खेते-खेत साइकिल से भगलें मुलायम सिंह

दयानंद पांडेय बहुत कमे लोग जानेला कि जब विश्वनाथ प्रताप सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री रहलन तब मुलायम सिंह यादव के इनकाउंटर करे के आदेश पुलिस को दे दिहले…

बिना ओरिचन के खटिया

विष्णुदेव तिवारी फूआ, माने गिरिजा फूआ-पुरुषोत्तम के बाबूजी के छोटकी बहिन- बाति ए तरी पागेली जे शब्द केनियो ले भरके ना पावसु लोग। अनचक्के में केहू के खींचि ले जइहें…

चितकबरा पहाड़ वाला गाँव

अशोक द्विवेदी चितकबरा पहाड़ का अरियाँ अरियाँ जवन ऊँच-खाल डहरि ओने गइल रहे, ओकरा दूनो ओर छोट-बड़ गई किसिम के बनइला फेंड़ रहलन स. कुछ हरियर पतई से झपसल आ…

अनिरुध जगनाथ के गंगालाभ हो गइल

मारीशस के राष्ट्रपति आ प्रधानोमंत्री रह चुकल अनिरुध जगनाथ के 91 बरीस का उमिर में काल्हु बियफे का दिने गंगा लाभ हो गइल. उनुका सम्मान में भारत सरकार शनीचर का…

अनिल ओझा ‘नीरद’ के दू गो गीत

अनिल ओझा ‘नीरद’ (एक) दोसर का बूझी इहवाँ, दोसरा के बेमारी?ऊ त बूझऽतारी चीलम, जेह पर चढ़ल बा अँगारी।। देशवा के देखऽ अपना, आजु इहे हाल बा।नेता लोग का करनी…

त हम का करीं

आचार्य अंबिका दत्त त्रिपाठी ‘व्यास’ हम जनम भर केहू के मनावत रहीं,केहू माने न माने त हम का करीं,आसरा में उमरिया बितावत रहीं,केहू जाने न जाने त हम का करीं.…

कथा भर औकात – (पुरातन अन्दाज में एगो नया कहानी)

प्रकाश उदय एगो कवना दो देश में, एगो राजा रहन. रजवा के सात गो रानी रही. सातो रनियन से एकए गो लइका रहे. जवना रानी से पुछाय तवन बतावे कि…

आइल हितई में चार दिन ला बाकिर हलफा मचा के गइल

लोकप्रिय गायक अजय पाण्डेय के निधन जे लोग अपना सुपर-डुपर गीतन से भोजपुरी लोकगीत गवनई के मड़ई उठा के राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय मंच तक ले गइल, ओह गायकन में अजय पाण्डेय जिओ…