– डॉ॰ उमेशजी ओझा सरोज एगो कम्पनी मे काम करत रहले. अपना पत्नी आ दूगो बेटा, सबीर आ शेखर, का साथे आपन चारिगो आदमी के छोट परिवार में मस्त आ हँसी खुशी से रहत रहले. बाकिर दूनो बेटा आवारा किस्म के रहले. ओह में से उनकर बड़ बेटा बेसी चालाकपूरा पढ़ीं…

Advertisements

– डॉ॰ उमेशजी ओझा प्रशांत एगो ट्रेवल्स एजेन्सी के मालिक रहले. शहर में आवे वाला यात्रियन के शहर के देखे वाला जगहन प घुमावे खातिर अपना एजेन्सी से छोट गाडी उपलब्ध करावल उनकर काम रहे. प्रशांत के व्यपार बहुते चल निकलल रहे. भीआईपी लोगन मे़ उनकर बढिया जान पहचान बनपूरा पढ़ीं…

शनिवार २९ मई का दिने बलिया के प्रतिष्ठित कम्प्यूटर व्यवसायी रजनीकान्त सिंह का कम्प्यूटर प्रतिष्ठान फ्रेण्ड्स कम्पयूटर में शातिर चोरन के एगो गिरोह एगो लैपटाप पर हाथ साफ कर दिहलसि. एह गिरोह में कम से कम पाँच आदमी रहलें जवना में से तीन लोग कर्मचारियन के बढ़िया से अप लिहलेपूरा पढ़ीं…