ढेर दिन से एगो हिट फिल्म खातिर तरसत भोजपुरी फिल्म उद्योग के पिछला शुक का दिने खुशखबरी मिलल कि ओह दिन रिलीज भइल फिल्म “मार देब गोली केहू ना बोली” के उम्मीद से बेसी सफलता मिलल बा. सीतामढ़ी के शंकर सिनेमा के उदाहरण देखावे लायक बा जहाँ कि ओकरा क्षमतापूरा पढ़ीं…

Advertisements

पंजाब के लड़की. पिता पायलट हउवें बाकिर ओकरा ऊँचाई से डर लागेला. मेडिकल में जाये के मन रहे बाकिर बीएससी करे के पड़ल. ओकरा बाद डायटिशियन के कोर्स कइली आ एगो अस्पताल में नौकरियो मिल गइल. बाकिर कहल जाला कि आदमी के किस्मत ओकरा के ओहिजा ले के चलिये जालापूरा पढ़ीं…