Tag: टिप्पणी

एगो पाठक नीरज का बहाने

काल्हु अँजोरिया के एगो सम्मानित पाठक नीरज जी जानल चहले कि सुर के महासंग्राम के आडिशन पटना में कहिया होखी? उनुका सवाल के जवाब लिखे बइठनी त बहुत कुछ अइसन…

चलीं फेर से आसान कर दिहल जाव कमेंट दिहल

कुछ दिन से देखत बानी कि अँजोरिया के पाठक पाठिका लोग के टिप्पणी नइखे आवत. हालांकि केहू के टिप्पणी पर रोक नइखे लगावल गइल. बस कुछ अनेरिया लोगन के अनेरे…