No Image

केकरा पर करबि सिंगार

April 15, 2015 Editor 0

– रामवृक्ष राय ‘विधुर’ जवार भर में केहू के मजाल ना रहे कि भोला पहलवान का सोझा खड़ा होखे. जब ऊ कवनो बाति पर खिसिया […]

Advertisements
No Image

विश्व भोजपुरी सम्मेलन, बलिया के अधिवेशन आ पाती अक्षर सम्मान 19 अप्रैल के

April 10, 2015 Editor 1

विश्व भोजपुरी सम्मेलन के बलिया ईकाई के सालाना अधिवेशन आ पाती अक्षर सम्मान समारोह बलिया के बापू भवन में 19 अप्रैल के होखे जा रहल […]

No Image

वरमाला

April 4, 2015 Editor 0

– कामता प्रसाद ओझा ‘दिव्य’ अन्हरिया….. घोर अन्हरिया…. भादो के अन्हरिया राति. छपनो कोटि बरखा जइसे सरग में छेद हो गइल होखे. कबहीं कबहीं कड़कड़ा […]

No Image

बाजलि बैरनि रे बाँसुरिया

April 2, 2015 Editor 0

– गिरिजाशंकर राय ‘गिरिजेश’ पाकिस्तान के मारि के हमार सिपाही ओकर छक्का छोड़ा दिहलन सऽ. चीन क कुल्हि चल्हाँकी भुला गइल. मिठाई खाइब… हो… हो. […]

No Image

भैरवी क साज

April 1, 2015 Editor 0

– ईश्वरचन्द्र सिन्हा सिंहवाहिनी देवी के सालाना सिंगार के समय माई के दरबार में जब चम्पा बाई अलाप लेके भैरवी सुरू कइलिन, त उहाँ बइठल […]

No Image

जेएनयू के भारतीय भाषा केन्द्र में भइल परिचर्चा आ काव्यपाठ

March 21, 2015 Editor 0

“‘पाती’ पत्रिका भोजपुरी रचनाशीलता के आंदोलन के क्रांति-पताका हऽ. ‘पाती’ माने, नयकी पीढ़ी के नाँवे सांस्कृतिक चिट्ठी. एगो चुपचाप चले वाला सांस्कृतिक आंदोलन हवे ‘पाती’, […]

No Image

तनी हट-हटा के….(2)

January 4, 2015 Editor 0

– प्रगत द्विवेदी हमनी के भोजपुरिया लोगन में कम ‘क्रियेटिविटी’ नइखे. जोगाड़ पर काम चलावे आ लोके-लहावे के चलन हमनी क खासियत मनाला. हमनी में […]

No Image

भोजपुरी साहित्यकार डा॰ अशोक द्विवेदी के मिली “लोककवि सम्मान”

December 31, 2014 Editor 0

पंडित विद्यानिवास मिश्र के जयंती का मौका पर 14 जनवरी 2015 का दिने भोजपुरी के महान साहित्यकार डा॰ अशोक द्विवेदी के ‘लोककवि सम्मान’ से सम्मानित […]

No Image

भोजपुरीओ साहित्यकार लोग अब ‘भारतीय साहित्य निर्माता’ का पाँत में

September 18, 2014 Editor 0

भोजपुरी अबहीं संविधान के अठवीं अनुसूची में शामिल होखे खातिर संघर्ष करत बिया. जबकि भारत के साहित्य अकादमी भारतीय साहित्य निर्माता का रूप में भिखारी […]

No Image

तनी हट-हटा के ….

August 24, 2014 Editor 0

– प्रगत द्विवेदी बचपन से आजु ले पिताजी के भोजपुरी-भोजपुरी रटत देखत अइलीं. ऊ आजु ले ना थकलन, बाकिर हमनी का जरूर घबड़ा गइली जा. […]

No Image

हिंदी खातिर भोजपुरी के बिसार दिहलें भोजपुरिया साहित्यकार

April 21, 2014 Editor 1

अतवार का दिने बलिया में ‘हिंदी के भेद से भाषिक अस्मिता को नुकसान’ विषय पर बोलावल गोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि आइल विश्व भोजपुरी सम्मेलन […]

No Image

फूल पतई हवा बा हैरान

February 4, 2014 Editor 0

विश्व भोजपुरी सम्मेलन के बलिया इकाई आ भोजपुरी के चर्चित पत्रिका ‘पाती’ का सहभागिता में बलिया के श्रीराम बिहार कालोनी में पाती कार्यालय का सभाकक्ष […]

दोहा द्वादस

December 5, 2013 Editor 0

– शिवबहादुर पाण्डेय ‘प्रीतम’ छोड़ीं जनि कुदरत कबो, राखीं एकर ध्यान। नाहीं तऽ बनि आपदा, ले ली राउर जान।। बद्री आ केदार के, धाम भइल […]

भोजपुरी के सौभाग्य आ दुर्भाग्य

December 3, 2013 Editor 0

भोजपुरी के सौभाग्य बा कि एम्मे एक से एक महात्मा संत, प्रतिभाशाली राजनीतिज्ञ, विद्वान, हुनरमन्द कलाकार, वैज्ञानिक आ समाज सेवियन क लमहर कतार बा. विशाल […]

No Image

भोजपुरी भाषा साहित्य के एगो नया पहिचान दिहलसि "पाती"

March 18, 2013 Editor 2

“भोजपुरी दिशाबोध के वैचारिक साहित्यिक पत्रिका “पाती” एगो अइसन रचनात्मक मंच ह जवन भोजपुरी भाषा साहित्य के एगो नया पहिचान दिहलसि. एकरा रचनात्मक आंदोलन से […]