वइसे त गोस्वामी तुलसीदास लिख गइल बानी कि समरथ के नहीं दोष गुसाईं बाकिर जमाना बदलल त कहाउतो बदलबे करी आ अब के कहाउत ई बा कि बरियार चोर सेन्हे पर बिरहा गावेला. ओकरा निकहा से मालूम बा कि ओकरा के दोषी बतावे के बेंवत केहू में नइखे. तबहियो ओकरापूरा पढ़ीं…

Advertisements