भोजपुरी साहित्यकार विनोद द्विवेदी के लिखल छोट छोट कहानियन के संग्रह “कहनी-अनकहनी” प्रकाशित हो गइल बा. एह संग्रह के बारे में प्रकाशक के कहनाम एहिजा दीहल जा रहल बा – लघुकथा कहानी के ऊ लघु-विन्यास ह, जवना में जिनिगी के कवनो खास पल, कवनो घटना, क्रिया-व्यापार भा संवेदन-सूत रहेला. कथापूरा पढ़ीं…

Advertisements

बहुत दुख के साथ बतावे पड़त बा कि भोजपुरी के मशहूर साहित्यकार चौधरी कन्हैया प्रसाद सिंह के निधन ब्रेन हेमरेेज का चलते पिछला बियफे का रात एगाारह बजे का लगभग हो गइल. ब्रेन हेमरेज का बाद पटना ले जाए का राहे में कन्हैया बाबू के निधन हो गइल. भोजपुर जिलापूरा पढ़ीं…