– ‍हरिराम पाण्डेय बंगाल के चलतीवादी समाज में न्याय, बरोबरी आ लोकतत्र ला कवनो जगहा नइखे. सत्ता दखलियावे के तकोनिया लड़ाई में कइसन कइसन खतरनाक बारूदी सुरंग पड़ल बाड़ी सँ एकर अंदाजा केहु के नइखे. एकर जवन नमूना पिछला मंगल का दिने देखे के मिलल ऊ कवनो अचके में भइलपूरा पढ़ीं…

Advertisements

टाइम्स आफ इण्डिया पर एम जे अकबर के ब्लॉग में नयका लेख मनमोहन सिंह के डिनर डिप्लोमेसी पर लिखल गइल बा. अकबर साहब लिखले बाड़न कि आठ साल से बिना कुछ दिहले समर्थन के मलाई काटत मनमोहन एक बेर फेरु मुलायम से समर्थन चाहत बाड़न बिना कुछ दिहले. एह फेरपूरा पढ़ीं…

– पाण्डेय हरिराम कोलकाता के इंदिरा भवन के नाम बदलला से शुरू भइल पश्चिम बंगाल में कांग्रेस आ तृणमूल कांग्रेस का बीच के बढ़त तनाव के असर अब दिल्लीओ में लउके लागल बा. हालांकि अइसनका पहिला बेर नइखे भइल. कांग्रेस के नीचा देखावे आ राज्य में ओकरा के अप्रासंगिक बनापूरा पढ़ीं…

– पाण्डेय हरिराम पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री लोकलुभावन राजनीति का चकोह में लगातार अझूरात जात बाड़ी. जवना माओवादियन के तरफदारी करिके ऊ मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के ‘हरमाद वाहिनी’ के ‘जंगल महल’ (वनांचल) में धूल चटावे में कामयाब भइली, आजु ओही माओवादियन के ऊ सख्ती से निपटे के चेतावत बाड़ी. माकपापूरा पढ़ीं…