No Image

मूस के सीख आ शेर के तमेचा

September 27, 2010 OmPrakash Singh 0

– जयंती पांडेय ई जान जा भाई, मूस चाहे जवना पार्टी में होखो बाकिर सलाह दिहला से बाज ना आवे. ऊ अपने चाहे जवन करऽ […]

Advertisements
No Image

दिल्ली के मेट्रो

May 2, 2010 OmPrakash Singh 0

– जयन्ती पाण्डेय पिछला दिने लस्टमानन्द दिल्ली गइल रहलन. का कहीं का नजारा रहे. जब से दिल्ली में मेट्रो रेलगाड़ी चले लागल तबसे ओहिजा का […]

No Image

अमीरी के नया शौक

April 5, 2010 OmPrakash Singh 0

– जयन्ती पाण्डे वइसे त कलकत्ता शहर के बड़ाबाजार के सेठ अमीरचंद का लगे बहुत दौलत रह, करिया आ सफेद दूनो. कारोबारो कई गो रहे. […]

No Image

खजाना कहाँ रहेला

April 1, 2010 OmPrakash Singh 0

– जयन्ती पाण्डे बाबा लस्टमानंद से राम चेला पूछलें कि बाबा हो, लक्ष्मी के भंडार, माने जे सरकार के खजाना कहल जाला ऊ असल में […]