Tag: हरेन्द्र कुमार

भोजपुरी उपन्यास "जुगेसर" – 5

– हरेन्द्र कुमार पाण्डेय अबले जवन पढ़नी ओकरा आगे …) घर का फोन में एसटीडी रहे. पूजा नम्बर मिलावे लगली. दूनो बच्चा दूर पलंग पर बैठ के शून्य में निहारे…

भोजपुरी उपन्यास "जुगेसर" – 4

– हरेन्द्र कुमार पाण्डेय अबले जवन पढ़नी ओकरा आगे …) मुजफ्फरपुर इमलीचट्टी होके ऊ यूनिवर्सिटी पहुंचलन. उहां केमिस्ट्री विभाग में गइलन. विभागाध्यक्ष के कमरा बंद रहे. ऊ अर्दली से पुछलन…

भोजपुरी उपन्यास "जुगेसर" – 3

– हरेन्द्र कुमार पाण्डेय अबले जवन पढ़नी ओकरा आगे …) सब लोग के पहिला गिलास खतम होखे पर आइल. सबकर नजर जुगेसर के भरल गिलास पर पड़ल. एक साथे सभे…

भोजपुरी उपन्यास "जुगेसर" – 2

– हरेन्द्र कुमार पाण्डेय अबले जवन पढ़नी ओकरा आगे …) -‘अरे योगेश्वर, कहां घुम तार?’ ऊ कहलन. -‘सर प्रणाम. हम समस्तीपुर जैन स्कूल में ज्वाइन कइले बानी. महीना भर भइल.…

हरेन्द्र कुमार सम्मानित

पिछला दिने कोलकाता में केन्द्रीय सचिवालय हिंदी परिषद नयी दिल्ली के कोलकाता ईकाई का तरफ से हरेन्द्र कुमार जी के उनकर बहुचर्चित भोजपुरी उपन्यास “सुनीता सान्याल के डायरी” खातिर स्व॰…