बार बार होखत परेशानी का चलते

by | Nov 17, 2011 | 5 comments

पिछला दू महीना से अपना वेबहास्ट का चलते अँजोरिया के प्रकाशन बार बार बाधित होखला से अनसा के अब अँजोरिया के दोसरा वेबहास्ट पर ले आइल गइल बा.

पिछला वेबहॉस्ट का चलते टिप्पणी आ बहुत कुछ दोसरो तरह के परदा के पीछे के काम पर बाधा लगावे के पड़ल रहे. अब सगरी बाधा हटा दिहल गइल बा. रउरा आराम से टिप्पणी कर सकीले.

साथ ही साथ इहो बतावत चलत बानी कि ई व्यवस्था अस्थायी तौर पर कइल गइल बा. हो सकेला कि एहिजो दिक्कत आवे त फेर एकरा के नया वेबहास्ट पर ले जाये के तइयारी लागल बा. देखल जाव कि राह में आवे वाली बाधा के अँजोरिया कवना तरह से पार करत बिया.

परेशान जतना हो लीं, हार नइखे माने के.

सादर सप्रेम,
राउर,
ओम,
प्रकाशक संपादक अँजोरिया

Loading

5 Comments

  1. OP_Singh

    हँ समीर जी,

    खाये वाला के मालूम होखे के चाहीं कि पकावे वाला कवना हालात में पकावत बा. पाठको लोग के जानकारी रहे के चाहीं कि कवना कारण से वेबसाइट खुलत नइखे.

    चलत गाड़ी में जब अचके में ब्रेक लगावे के पड़ेला त फेर समय लागेला आपन पुरनका रफ्तार पकड़े में.

    रहल बात लिखे पढ़े के टॉपिक के त रउरो जान के अचरज होई कि दू तिहाई पाठक सिनेमा वाला पन्ना से एने ओने ना जासु. सबले खराब हालत साहित्य के होला जवना के पढ़े देखे वाला पाठक बहुते कम मिलेले. बाकिर सगरी कठिनाई का बावजूद अँजोरिया के कोशिश रहेला कि सब कुछ दियात परोसात रहे जेहसे कि पाठक लोग के आवे के मन करे.

    भोजपुरी में वेबसाइटन के कमी नइखे बाकिर अपना मुँहे मिट्ठू बनला के खतरा का बावजूद हम त इहे कहब कि अँजोरिया पर जतना वैविध्य मौजूद बा ओतना दोसरो कवनो साइट पर ना मिली. अँजोरिया के खबर वाला विभाग टटका खबर पर भोजपुरी के खबर दिहला के मतलब खबर से बेसी एह बात के रहेला कि भोजपुरी में सब कुछ मिल सकेला.

    दुर्भाग्य से अँजोरिया पर काम करे वाला हम अकेला आदमी बानी. आजीविका दोसरा काम से चलेला आ भोजपुरी सेवा के काम तब हो पावेला जब समय मिले. लाख चहला का बावजूद अँजोरिया के आर्थिक रुप से सक्षम ना बना पवनी जेहसे कि कुछ लोग के नियमित रूप से राख के काम करा सकीं.

    माफ करब, लिखे बइठल रहनी धन्यवाद आ मन के पीर बाहर निकल आइल.

    रउरा टिप्पणी खातिर लाख लाख धन्यवाद.

    राउर,
    ओम
    संपादक

  2. Sameer

    Chali ehi bahane kuchh naya topic t mili jaat bate nu likhe padhe ke.lagl rahla ke kaam ba

  3. OP_Singh

    धन्यवाद चंदन जी

Submit a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

अँजोरिया के भामाशाह

अगर चाहत बानी कि अँजोरिया जीयत रहे आ मजबूती से खड़ा रह सके त कम से कम 11 रुपिया के सहयोग कर के एकरा के वित्तीय संसाधन उपलब्ध कराईं. यूपीआई पहचान हवे - सहयोग भेजला का बाद आपन एगो फोटो आ परिचय
anjoria@outlook.com
पर भेज दीं. सभकर नाम शामिल रही सूची में बाकिर सबले बड़का पाँच गो भामाशाहन के एहिजा पहिला पन्ना पर जगहा दीहल जाई.
अबहीं ले 13 गो भामाशाहन से कुल मिला के सात हजार तीन सौ अठासी रुपिया (7388/-) के सहयोग मिलल बा. सहजोग राशि आ तारीख का क्रम से पाँच गो सर्वश्रेष्ठ भामाशाह -
(1)
अनुपलब्ध
18 जून 2023
गुमनाम भाई जी,
सहयोग राशि - एगारह सौ रुपिया

(3)

24 जून 2023 दयाशंकर तिवारी जी,
सहयोग राशि - एगारह सौ एक रुपिया
(4)
18 जुलाई 2023
फ्रेंड्स कम्प्यूटर, बलिया
सहयोग राशि - एगारह सौ रुपिया
(7)
19 नवम्बर 2023
पाती प्रकाशन का ओर से, आकांक्षा द्विवेदी, मुम्बई
सहयोग राशि - एगारह सौ रुपिया

(11)
24 अप्रैल 2024
सौरभ पाण्डेय जी
सहयोग राशि - एगारह सौ रुपिया

पूरा सूची
एगो निहोरा बा कि जब सहयोग करीं त ओकर सूचना जरुर दे दीं. एही चलते तीन दिन बाद एकरा के जोड़नी ह जब खाता देखला पर पता चलल ह.

संस्तुति

हेल्थ इन्श्योरेंस करे वाला संस्था बहुते बाड़ी सँ बाकिर स्टार हेल्थ एह मामिला में लाजवाब बा, ई हम अपना निजी अनुभव से बतावतानी. अधिका जानकारी ला स्टार हेल्थ से संपर्क करीं.
शेयर ट्रेडिंग करे वालन खातिर सबले जरुरी साधन चार्ट खातिर ट्रेडिंगव्यू
शेयर में डे ट्रेडिंग करे वालन खातिर सबले बढ़िया ब्रोकर आदित्य बिरला मनी
हर शेेयर ट्रेेडर वणिक हैै - WANIK.IN

Categories

चुटपुटिहा

सुतला मे, जगला में, चेत में, अचेत में। बारी, फुलवारी में, चँवर, कुरखेत में। घूमे जाला कतहीं लवटि आवे सँझिया, चोरवा के मन बसे ककड़ी के खेत में। - संगीत सुभाष के ह्वाट्सअप से


अउरी पढ़ीं
Scroll Up