मचल बा हाय खलबली

by | May 3, 2011 | 9 comments

– ओ.पी .अमृतांशु

जीतल मंगरुआ बो मुखिया चुनाव में 
मचल बा हाय खलबली, देखऽ गली -गली.

छाका छोड़ाई दिहलस एमे. बीए पास के 
मुखिया जी खुरुपी ले के चलीं दिहलें घास के
निपट-अनाड़ी भारी उठल बीया गावँ में  
मचल बा हाय खलबली, देखऽ गली –गली.

शोषण के मारी हारी धीरे मुसुकइली
घूँघट के ओटवा के तनी सा हटइली 
चऊकठ के बहरा बाजेला पायल पाँव में
मचल बा हाय खलबली, देखऽ गली –गली.

जुटल पंचाईत आइल केस बलात्कार के
भइल मिजाज गरम मंगरू के नारि के
गइलें आरोपी जेहल मोछवा के ताव में
मचल बा हाय खलबली, देखऽ गली –गली !

नारी पे नाहिं केहू आँखिया उठाई 
दिन -दुखियन  के ना  केहूओ   सताई
अब ना छहईहें ओ.पी झूलनी के छावँ में
मचल बा हाय खलबली, देखऽ गली –गली.

Loading

9 Comments

  1. kiran

    गावँ के सतावल -दबावल शोषण के शिकार भइल नारी के चुनाव में खड़ा भइल बहुत बड़हन बात बा .बहुत बढ़िया कविता बा राउर .
    किरण

  2. punam singh

    राउर कविता से हमार गावँ के घटना कुछ -कुछ मिलत-जुलत बा .

    अच्छा बा .

    पूनम

  3. Shyam Narain Verma

    प्रणाम जी

    पढ़ के माजा आ गईल !

  4. amritanshuom

    नमस्कार संतोष जी ,
    राउर टिपण्णी पढ़नी बड़ी निक भी लागल आ ख़ुशी भी भइल. चली केहू त बा आपन जे रास्ता देखावता.
    धन्यवाद ! भैया.
    राउर
    ओ.पी.अमृतांशु

  5. santosh patel

    amritanshuji
    shoshit samaj ke loktantra se milal tagad ke aesas karawat biya aap ke rachna, uppar vidwan bhaee ke pratikriya padla se bhujhat ba,abhu log samajik samarasta ke vishwas naikhe rakhat… lekhani ke dhar aur chokh karee aa shoshit samaj ke jagran kare me sarthak prayas kari.
    santosh

  6. यशेन्द्र

    लालू बो के इयाद आवत बा जे हेतना बरिस ले बिहार पर राज कईली आ शोषित समाज के उद्धार भईल.
    आ हमनी के देस पर राजीव बो के राज बा. उनकरे झुलनिया के छाँव मे मे सगरे देस झूलत बा !!
    अब मंगरुआ बो भी आ गईली त जवन बचल बा उहो उद्धार हो जाई.
    यू पी मे …….. बो ( ! ) के पायल बाजत बा.

    पढ़ के माजा आ गईल, अमृतांशु भाई !

  7. SAHIL

    bahut sahi likhe ho o.p. ji

  8. chitsa

    तानाशाही समाज को ठेंगा दिखाती नारी का चित्रण बहुत बढ़ियां.
    चित्सा

  9. Ranjit Kairos

    शोषीत समाज के सतावल लचार,
    लेकिन मजबूत मंगरू बो के,
    चुनाव जीतल तानाशाह लोगन के,
    गाल पे तमाचा मराल बा .
    धन्यवाद !
    रंजित कैरोस

Submit a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

अँजोरिया के भामाशाह

अगर चाहत बानी कि अँजोरिया जीयत रहे आ मजबूती से खड़ा रह सके त कम से कम 11 रुपिया के सहयोग कर के एकरा के वित्तीय संसाधन उपलब्ध कराईं. यूपीआई पहचान हवे - सहयोग भेजला का बाद आपन एगो फोटो आ परिचय
anjoria@outlook.com
पर भेज दीं. सभकर नाम शामिल रही सूची में बाकिर सबले बड़का पाँच गो भामाशाहन के एहिजा पहिला पन्ना पर जगहा दीहल जाई.
अबहीं ले 13 गो भामाशाहन से कुल मिला के सात हजार तीन सौ अठासी रुपिया (7388/-) के सहयोग मिलल बा. सहजोग राशि आ तारीख का क्रम से पाँच गो सर्वश्रेष्ठ भामाशाह -
(1)
अनुपलब्ध
18 जून 2023
गुमनाम भाई जी,
सहयोग राशि - एगारह सौ रुपिया

(3)

24 जून 2023 दयाशंकर तिवारी जी,
सहयोग राशि - एगारह सौ एक रुपिया
(4)
18 जुलाई 2023
फ्रेंड्स कम्प्यूटर, बलिया
सहयोग राशि - एगारह सौ रुपिया
(7)
19 नवम्बर 2023
पाती प्रकाशन का ओर से, आकांक्षा द्विवेदी, मुम्बई
सहयोग राशि - एगारह सौ रुपिया

(11)
24 अप्रैल 2024
सौरभ पाण्डेय जी
सहयोग राशि - एगारह सौ रुपिया

पूरा सूची
एगो निहोरा बा कि जब सहयोग करीं त ओकर सूचना जरुर दे दीं. एही चलते तीन दिन बाद एकरा के जोड़नी ह जब खाता देखला पर पता चलल ह.

संस्तुति

हेल्थ इन्श्योरेंस करे वाला संस्था बहुते बाड़ी सँ बाकिर स्टार हेल्थ एह मामिला में लाजवाब बा, ई हम अपना निजी अनुभव से बतावतानी. अधिका जानकारी ला स्टार हेल्थ से संपर्क करीं.
शेयर ट्रेडिंग करे वालन खातिर सबले जरुरी साधन चार्ट खातिर ट्रेडिंगव्यू
शेयर में डे ट्रेडिंग करे वालन खातिर सबले बढ़िया ब्रोकर आदित्य बिरला मनी
हर शेेयर ट्रेेडर वणिक हैै - WANIK.IN

Categories

चुटपुटिहा

सुतला मे, जगला में, चेत में, अचेत में। बारी, फुलवारी में, चँवर, कुरखेत में। घूमे जाला कतहीं लवटि आवे सँझिया, चोरवा के मन बसे ककड़ी के खेत में। - संगीत सुभाष के ह्वाट्सअप से


अउरी पढ़ीं
Scroll Up