Month: अगस्त 2013

’सईयाँ तूफानी’ विक्रान्त के तेवर

एग्री यंगमैन आ हीमैन के व्यक्तित्व वाला हरफन मौला अभिनेता विक्रान्त हर किरदार के जियतार बना देबे में माहिर हवें. अपना हर फिलिम में विक्रांत एगो अलग छाप छोड़त गइल…

नुक्ता का हेर फेर से खुदा जुदा हो सकेलें (बतकुच्चन – ‍१२०)

उर्दू के जानकार जानेलें कि कइसे नुक्ता का हेर फेर से खुदा जुदा हो सकेलें. उर्दू के एगो खासियत ह कि बहुते मात्रा लिखल ना जाव बूझ लिहल जाला. जे…

भुखाइल पेट के सांच

– जयंती पांडेय छपरा में दुपहरिया के भोजन क के 23 गो लईका मर गइले सन एह बात से दुखी बाबा लस्टमानंद नेताजी से पूछले कि, हे सरकार, अइसन काहे…