पिछला दिने 23-24 फरवरी 2019 के वाराणसी में भइल विश्व भोजपुरी सम्मेलन के कार्यक्रम में भोजपुरी के वरिष्ठ कवि-कथाकार डा०अशोक द्विवेदी के, भोजपुरी में उनका खास आ लमहर योगदान दिहला बदे, भोजपुरी के सबले बड़का सम्मान , “सेतु-सम्मान ” से सम्मानित कइल गइल. जाने जोग बा कि डा. अशोक द्विवेदी,पूरा पढ़ीं…

Advertisements

जे भोजपुरी में, भोजपुरी खातिर, बिना लोभ-लालच आ मान-प्रतिष्ठा के परवाह कइले बरिसन से चुपचाप रचनात्मक काम कर रहल बा आ कइले जा रहल बा, ओके नजरअन्दाज कइ के, एक-दूसरा के टँगरी खींचे वाला ई कथित भोजपुरी-हित चिंतक मठाधीशे लोग बा। हमरा त चिंता होला कि भोजपुरी के कबो अगर मान्यता मिल गइल आ ओकरा नाँव पर पढ़े-पढ़ावे भा पुरस्कार-सम्मान के इन्तजाम होइयो गइल त ओकरा बाद के स्थिति केतना बिद्रूप आ भयंकर होई? तब त एक दोसरा क कपार फोरे में ना हाथ लउकी, ना ढेला।

लोकरंजन आ सांस्कृतिक गीत-गवनई के बढ़ावा देबे खातिर पाती कला मंच आ भोजपुरी दिशाबोध के पत्रिका पाती का ओर से नयी दिल्ली के दीनदयाल मार्ग, आईटीओ, पर स्थित राजेन्द्र भवन ऑडिटोरियम में शनिचर 15 सितम्बर का दिने साँझ पाँच बजे से साढ़े आठ बजे ले एगो सांस्कृतिक आयोजन राखल गइलपूरा पढ़ीं…

दिल्ली के संसद मार्ग पर होई भोजपुरिया जुटान भोजपुरी के संवैधानिक मान्यता आ आठवीं अनुसूची में शामिल करावे खातिर पूर्वांचल एकता मंच, भोजपुरी जन जागरण अभियान, अखिल भारतीय भोजपुरी साहित्य सम्मेलन, अखिल भारतीय भोजपुरी लेखक संघ आ रंगश्री के संयुक्त तत्वावधान में 7अगस्त, 2018 दिन मंगलवार के विशाल धरना प्रदर्शनपूरा पढ़ीं…

“हँसी, ठिठोली, बोली आ बेवहार गजब बा, भोली सूरत, रहन-सहन, तेवहार गजब बा” भोजपुरी के मूर्धन्य कवि अउऱ गायक संगीत सुभाष जी के एह पंक्तियन का साथे कार्यक्रम के समहुत भइल आ एकरा साथे-साथ शशि अनाड़ी, अजय प्रकाश तिवारी, अउर विनोद गिरी के गावल गानो के श्रोता लोग के भरपूरपूरा पढ़ीं…

बलिया, 27 मई. विश्व भोजपुरी सम्मेलन के बलिया इकाई आ पाती-रचना मंच के साझा आयोजन में आजु बिहार आ यूपी के सुदूर जनपदन से आइल विद्वान, रचनाकार, अउर सृजनकर्मी तिक्खर घाम आ गर्मी का बावजूद बढ-चढ़ के हिस्सा लिहलें. बलिया के बापू भवन (टाउन हॉल) में आचार्य रह चुकल आपूरा पढ़ीं…

पूर्वांचल एकता मंच,नई दिल्ली के आयोजन में भइळ 10वां विश्व भोजपुरी सम्मेलन (विभोस) में चर्चित कवि आ साहित्यकार गंगा प्रसाद अरुण के हस्तलिखित (हाथ से लिखल फांट में) भोजपुरी गजल संग्रह “गजल गवाह बनी” के लोकार्पण मुख्यअतिथि आ लोकसभा अध्यक्ष रहल मीरा कुमार के हाथ से भइल. सम्मेलन दादादेव मेलापूरा पढ़ीं…

भोजपुरी रंगमंच खातिर समर्पित नाट्य संस्था रंगश्री (स्थापित सन् 1978) आपन 5वाँ पाँच दिन चले वाला भोजपुरी नाट्य उत्सव के आयोजन, संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से आ स्टील अथारिटी आफ इण्डीया अउर मैथिली भोजपुरी अकादमी के विशेष सहयोग से फिनु दिल्ली में दिनांक 26 मार्च से 30 मार्चपूरा पढ़ीं…

जब तक मान्यता ना मिल जाई लड़ाई जारी रही – भोजपुरी जन जागरण अभियान भोजपुरिया जन मानस के दिल मे घर कर रहल बा भोजपुरी भाषा आंदोलन गीत भोजपुरी भाषा आजु बहुत समृद्धशाली भाषा बिया. एकर पटल बहुते व्यापक बा. बाकिर दुर्भाग्य के बात बा कि अबही ले भोजपुरी भाषापूरा पढ़ीं…

पिछला दिने नेपाल भोजपुरी समाज, वीरगंज के फगुआ मिलन समारोह “रंगन के त्योहार” मनावल गइल. नेपाल भोजपुरी समाज के अध्यक्ष रामदेव प्रसाद श्रीवास्तव के अध्यक्षता में कुम्हालटोल वार्ड न. 5 में भइल एह कार्यक्रम में विशिष्ट अथिति रहलें हिंदी साहित्य परिषद् के अध्यक्ष ओम प्रकाश सिकरिया, आ साहित्यकार-लेखक दिनेश गुप्ता.पूरा पढ़ीं…

24 फरवरी के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर, मैक्स मुलर मार्ग, नई दिल्ली में विश्व भोजपुरी सम्मेलन के राष्ट्रीय कार्यकारणी के बइठक आ अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस पर विचार गोष्ठी भइल. हिन्दी में भेजल एह बइठक के रपट के भोजपुरी अनुवाद नीचे दीहल जा रहल बा. भोजपुरी के संस्थन के अतना फुरसत नापूरा पढ़ीं…