भोजपुरी के संवैधानिक मान्यता दिआवे आ अठवीं अनुसूची में शामिल करावे खातिर “भोजपुरी जन जागरण अभियान” के तत्वावधान में राष्ट्र स्तर पर चलावल जात भोजपुरी भाषा मान्यता आंदोलन के तहत आजु 14 जुलाई 2019, का दिने दिल्ली के जंतर मंतर पर बड़हन धरना प्रदर्शन कइलें देश भर से जुटल भोजपुरिया. एह धरना के अगुआ रहलन अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष पटेल.
बतावत चलीं कि “भोजपुरी जन जागरण अभियान” देश भर मे भोजपुरी को संविधान में शामिल करावे ला लगातार प्रयास में लागल बा. दुनिया के सोरह देशन में करीब 25 करोड़ भोजपुरियन के भाषा हीय भोजपुरी. भोजपुरी जन जागरण अभियान एकरा साहित्य अउर संस्कृति के सहेजहुं के काम करत बिया. भोजपुरी के साहित्य आ संस्कृति बहुते पुरहर बा बाकिर एह सभ का बावजूद एकरा के संविधान के अठवीं अनुसूची में शामिल नइखे करावल जा सकल.
आजु के धरना के अध्यक्षता जे एन यू के प्रो. राजेश पासवान कइलन. आ धरना के संबोधित करे वालन में भरत सिंह भारती, पोढ़ रंगकर्मी महेन्द्र प्रसाद सिंह, भाई बी के सिंह पटेल, सतेंद्र पी एस, धनंजय कुमार सिंह, वीणा वादिनी चौबे, शोभा शर्मा, लाल बिहारी लाल, धर्मेंद्र चौहान, नागेन्द्र सिंह, नवल किशोर निशांत, राकेश कुशवाहा, मनोज कुमार सिंह, प्रो चन्द्रदेव यादव, जूली रानी, परमेन्द्र सिंह, संजय ऋतुराज, देवेंद्र कुमार, प्रवीण सिंह, रमेन्द्र कुमार, अजीत सिंह, सरिता साज, जैनेन्द्र दोस्त, ओमप्रकाश अमृतांशु, अउर डॉ मनोज कुमार के अलावा देशभर से आइल लोग शामिल रहल.
धरना के सफल संचालन कइलन अभियान के महासचिव अभिषेक भोजपुरिया.
एह धरना के बाद भोजपुरी जन जागरण अभियान के प्रतिनिधि प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, अउर राष्ट्रपति के आपन ज्ञापन आ मांग पत्र सँउपिहें.
ई सगरी जानकारी “भोजपुरी जन जागरण अभियान” के राष्ट्रीय संयोजक राजेश भोजपुरिया भेजले बाड़न.

Loading

कुछ त कहीं......

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll Up