ममता के राज में हिन्दू पूजा ना कर सकसु काहे कि मुसलमान नाराज हो जइहें

चिंहुकला के जरूरत नइखे. मुस्लिम प्रेमी ममता बनर्जी के राज में पश्चिम बंगाल में कई जगहा हिन्दू आपन रीति रिवाज के पालन ना कर सकसु. कतहीं लाशो जरवला पर मनाही त कई जगहा आपन पर्व उत्सव मनावे पर. मुसलमान स्वभाव ह कि जबले उनकर गिनिती कम रहेला कवनो इलाका में तबले उनुका माइनोरिटी के सगरी फायदा मिले के चाहीं बाकिर जसहीं उनकर आबादी एगो सीमा से अधिका बढ़ जाला तसहीं ई लोग हिन्दूवन पर धँउस जमावल शुरू कर देलें. दीवाली पर लोग पटाखा मत फोड़ो एकरा ला ई लोग सु्प्रीम कोर्ट ले चहुँप जाला. ऊ त गनीमत बा कि अबकी सुप्रीमो कोर्ट एह तरह के अतहत के पसन्द ना कइलसि आ कह दिहलसि कि पटाखा छोड़े पर रोक ना लगा सकी काहे कि एह आदेश के पालन ना करावल जा सके. तीन साल से पश्चिम बंगाल के एगो गाँव के लोग दुर्गा पूजा नइखे मना सकत. एहू साल करीब डेढ़ महीना पहिले से दीहल अरजी के प्रशासन आखिर ले लटकवले रहि गइल आ एन मौका पर कह दिहलसि कि ना दुर्गा पूजा मनावे के इजाजत ना दीहल जा सके काहें कि एह इलाका के मुसलमान एह बात के पसन्द ना करीहें. हारल थाकल हिन्दू मन मार के रहि गइलें आ हर छोट मोट बात पर हिन्दू विरोधी बवाल करे वाला मीडिया एह खबर के आराम से पचा गइल. कबो ना बतवलसि कि एह देश में इहो संभव बा कि हिन्दू दुर्गा पूजा ना कर सकसु. सु्प्रीम कोर्ट में पटाखा का खिलाफ अरजी लगावे वाला के मजहब का रहल इहो ना बतवलसि एह देश के हिन्दू आ देश विरोधी मीडिया. वइसे एह केस के पैरवी कार रहलन कांग्रेस के एगो बड़का नेता आ वकील अभिषेक मनु सिंघवी.

Loading

कुछ त कहीं......

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll Up