नामी ज्ञानी आ विचारक लोग बड़हन-बड़हन ग्रन्थ लिख के ओतना ना समुझा पावे जतना एकाध लाइन में ट्रक-बस का पाछे लिखे वाला बरनन कर जाले. आ एही में जोड़ल जा सकेला सोशल मीडिया के ज्ञानियन के. इहो लोग कुछेक लाइन में अतना ज्ञान परोस देला कि लागेला कि अइसनके लोगपूरा पढ़ीं…

Advertisements