‘अँजोरिया’ भोजपुरी समाज, साहित्य आ संस्कृति के पत्रिका हटे. बीच में कुछ कारण से एकरा के भोजपुरिका पर डाल दीहल रहुवे बाकिर पाठकन के कमी देखत ओकरा के बन्द क देबे के फैसला मजबूरी में लेबे के पड़ल. अब फेरू सगरी सामग्री वापस अँजोरिया प आ गइल बा.
समाचार, साहित्य से मनोरंजन तक के रउरा चाव के विविध सामग्री परोसे के शुरुवे से हमार मन रहल बा आ आपन हर कोशिश कइले बानी कि भोजपुरिया समाज के ज्यादा से ज्यादा संतुष्ट कर सकीं आउर भोजपुरिया स्वाभिमान के संपुष्ट कर सकीं.
1. आत्मीय सनेही लोगन से निहोरा बा कि अँजोरिया पर रोज कम से कम एक बेर जरूर आईं सभे, जवने नीक लागे, पढ़ीं सभे आ आपन बहुमूल्य टिप्पणी दिहीं सभे.
2. आदरणीय लेखक लोगन से निहोरा बा कि रउँआ सभ आपन हर विधा आ विषय के सामग्री प्रकाशित करे खातिर नीचे लिखल दूनो मेल आइडी पर आपन रचना हिंदी के यूनिकोड भा कवनो फंट में टाइप कइके भेजीं.
anjoria@outlook.com
ksbhojpurika@gmail.com
सधन्यवाद,
राउर
संपादक, अँजोरिया.कॉम

 195 total views,  20 views today

One thought on “सनेही आ लेखक लोगन से निहोरा”
  1. ओमप्रकाश जी के नेह सनेह आ दुलार भोजपुरी के प्रति बनल बाटे. हमेशा से ही आपके अंजोरिया के जमाने से पढत चलत आ रहल बानी. लिखत रहीं..

Comments are closed.

%d bloggers like this: