पौरा

September 8, 2020 Editor 0

रामनरेश शर्मा ‘शिक्षक’ बेटी लक्ष्मी के शादी खातिर रमई छानि दिहले. कहीं वर-घर ना मिलल, कहीं वर मिले त घर ना रहे, त कहीं घर […]

सदमा

May 1, 2020 Editor 0

कृष्णानन्द कृष्ण रिटायर्ड़ भइला का बादो दीनदयाल जी के दिनचर्या में कवनो बदलाव ना आइल रहे. उहे पूजा-पाठ, सध्या-वन्दन आ खाली समय में कवनो ना […]

ऐतिहासिक किताबि ‘भोजपुरी साहित्य में महिला रचनाकारन के भूमिका’ के भव्य लोकार्पण भइल

January 21, 2020 nffsrn 0

समाज, संस्कृति आउर सभ्यतन के बनावे आ जोगावे में महिला लोगन के योगदान हमेसा से रहल बा. बात भाषा के होखे भा संस्कृति के, महिला […]

पढ़े-लिखे वाला पाठक, पठनीयता आ “पाती” – हमार पन्ना

December 5, 2019 Editor 0

डॉ अशोक द्विवेदी एगो जमाना रहे कि ‘पाती’ (चिट्ठी) शुभ-अशुभ, सुख-दुख का सनेस के सबसे बड़ माध्यम रहे। बैरन, पोस्टकार्ड, अन्तर्देशी आ लिफाफा में लोग […]

भोजपुरी के गँवारू भाषा जनि बनाईं (सँझवत-2 के संपादकीय)

December 1, 2019 Editor 0

रामरक्षा मिश्र विमल भोजपुरी दू डेग आगे त हिंदी दू डेग पाछे हिंदी के कुछ तथाकथित विद्वान एह घरी भोजपुरी पर आपन-आपन ब्रह्मास्त्र चलावे में […]

भोजपुरी रचना पर आलोचना के किताब के विमोचन

November 1, 2019 Editor 0

नई दिल्ली में साहित्य अकादेमी का सभागार रवीन्द्र भवन में भोजपुरी के मशहूर लिखनिहार डॉ अशोक द्विवेदी के लिखल आलोचना के किताब के विमोचन पुरनिया […]

भोजपुरी में आलोचना के किताब के विमोचन आ ओकरा पर बतकही

October 18, 2019 Editor 0

भोजपुरी के मशहूर आ प्रतिष्ठित लिखनिहार डॉ अशोक द्विवेदी जी के लिखल किताब “भोजपुरी रचना आ आलोचना” के विमोचन 29 अक्टूबर 2019, मंगल का दिने […]

माँछी

July 3, 2019 Editor 0

दिनेश पाण्डेय उहाँ का सँगहीं रहनीं। बइठार रहे त चलीं सउदा-सुलुफ का सँगे कुछ मटरगस्तियो हो जाई, एक पंथ दुइ काज। तय भइल जे किराना […]