पिछला दिने 23-24 फरवरी 2019 के वाराणसी में भइल विश्व भोजपुरी सम्मेलन के कार्यक्रम में भोजपुरी के वरिष्ठ कवि-कथाकार डा०अशोक द्विवेदी के, भोजपुरी में उनका खास आ लमहर योगदान दिहला बदे, भोजपुरी के सबले बड़का सम्मान , “सेतु-सम्मान ” से सम्मानित कइल गइल. जाने जोग बा कि डा. अशोक द्विवेदी,पूरा पढ़ीं…

Advertisements

जे भोजपुरी में, भोजपुरी खातिर, बिना लोभ-लालच आ मान-प्रतिष्ठा के परवाह कइले बरिसन से चुपचाप रचनात्मक काम कर रहल बा आ कइले जा रहल बा, ओके नजरअन्दाज कइ के, एक-दूसरा के टँगरी खींचे वाला ई कथित भोजपुरी-हित चिंतक मठाधीशे लोग बा। हमरा त चिंता होला कि भोजपुरी के कबो अगर मान्यता मिल गइल आ ओकरा नाँव पर पढ़े-पढ़ावे भा पुरस्कार-सम्मान के इन्तजाम होइयो गइल त ओकरा बाद के स्थिति केतना बिद्रूप आ भयंकर होई? तब त एक दोसरा क कपार फोरे में ना हाथ लउकी, ना ढेला।

जब तक मान्यता ना मिल जाई लड़ाई जारी रही – भोजपुरी जन जागरण अभियान भोजपुरिया जन मानस के दिल मे घर कर रहल बा भोजपुरी भाषा आंदोलन गीत भोजपुरी भाषा आजु बहुत समृद्धशाली भाषा बिया. एकर पटल बहुते व्यापक बा. बाकिर दुर्भाग्य के बात बा कि अबही ले भोजपुरी भाषापूरा पढ़ीं…

File photo of previous dharna

भोजपुरी जन जागरण अभियान के बैनर तरे अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के दिना 21 फरवरी 2018 के दिल्ली के संसद मार्ग पर भोजपुरी भाषा के संविधान के आठवीं अनुसूची में शामिल करावे खातिर विशाल शांति पूर्ण धरना के आयोजन कइल गइल. भलहीं भोजपुरियन के ई शांतिपूर्ण धरना रहे बाकिर ई धरनापूरा पढ़ीं…

– कृष्ण कुमार चंपारन सत्याग्रह से जुड़ल कई गो कहानी अइसनो बाड़ी सन, जवन साइत इतिहास के पन्ना में जल्दी ना मिलें स बाकिर ओह कहानियन के, ओह इलाका क लोग पीढ़ियन से सुनत आ रहल बाड़े। लोग बतावेला कि चंपारन का तत्कालीन मरमभेदी सच्चाइयन के सुन-देखि आ जान केपूरा पढ़ीं…

– भगवती प्रसाद द्विवेदी भोजपुरिया समाज शुरूए से कबो ना थाकेवाली मेहनत, जीवटता, संघर्षशीलता, अपना दम-खम आउर बल-बेंवत का बदउलत मनमाफिक मुकाम हासिल करे खातिर जानल जाला। ‘कर बहियाँ-बल आपनो, छाड़ि बिरानी आस’ इहवाँ के मनई के मूल मंतर रहल बा। तबे नू, खाली देसे में ना, बलुक विदेसो मेंपूरा पढ़ीं…

20 जुलाई 2017 का दिने संघ के प्रचारक स्वंयसेवक, भाजपा के नेता, आ हाल फिलहाल में बिहार के राज्यपाल रहल रामनाथ कोविन्द जी के देश के 14वाँ राष्ट्रपति का रुप में चुनइला के आधिकारिक एलान हो गइल. सोनिया गाँधी के अगुअई में बहुते विराधी गोल मिल के बाबू जगजीवन रामपूरा पढ़ीं…

Indian Presidents

अब जब भारत के राष्ट्रपति के चुनाव के तारीख के एलान हो गइल बा त आईं जावल जाव कि भारत के राष्ट्रपति के चुनाव में का शासियत होला. ई चुनाव हमेशा पाँच साल खातिर होला. कबो कबो बीचे में असामयिक निधन का चलते भा कवनो दोसरा कारण से चुनाव करावेपूरा पढ़ीं…

नई दिल्ली : आजु 15 नवम्बर 2016 के भोजपुरी भाषा मान्यता आंदोलन (भोजपुरी जन जागरण अभियान) के बैनर से भोजपुरी भाषा के भारतीय संविधान में शामिल करावे के मांग लेके संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष पटेल के नेतृत्व में दिल्ली के जंतर मंतर पर एक दिन के धरना दीहल गइल।पूरा पढ़ीं…

सरकार के उदासीन रवैया के कारण…पाँचवा धरना प्रदर्शन दिल्ली के जंतर मंतर पर 15 नवम्बर, 2016 दिन मंगलवार के। भोजपुरी के संवैधानिक मान्यता आ भोजपुरी के आठवीं अनुसूची में शामिल करावे खातिर सभे भोजपुरिया,भोजपुरी संस्थान, पत्रकार बंधु, रंगकर्मी,साहित्यकार,भोजपुरी सेवी, कलाकार, राजनितिक दल के प्रतिनिधि से निहोरा बा कि अपना भोजपुरीपूरा पढ़ीं…

– ‍हरिराम पाण्डेय उत्तर प्रदेश एह घरी भारत के सियासत के ड्राइंगबोर्ड बन के बइठल बा. एकरा अलग अलग हिस्सा पर अलग अलग गोल तरह तरह के चित्र बनावे में लागल बाड़ें. कांग्रेस प्रगतिशील उदार ब्राह्मणवाद के हवा देत बिया, त भाजपा कट्टरहिंदूवाद के चित्र बनावत बिया. मौजूदा मुख्यमंत्री अखिलेशपूरा पढ़ीं…