लोकरंजन आ सांस्कृतिक गीत-गवनई के बढ़ावा देबे खातिर पाती कला मंच आ भोजपुरी दिशाबोध के पत्रिका पाती का ओर से नयी दिल्ली के दीनदयाल मार्ग, आईटीओ, पर स्थित राजेन्द्र भवन ऑडिटोरियम में शनिचर 15 सितम्बर का दिने साँझ पाँच बजे से साढ़े आठ बजे ले एगो सांस्कृतिक आयोजन राखल गइलपूरा पढ़ीं…

Advertisements

– आलोक पुराणिक ढेरे सनसनी बा. कवनो टीवी चैनल के भासा उधार ले लीं त ई कहल जा सकेला कि पूरा मुल्के में सनसनी बा. मुल्के काहे पूरा दुनिया में सनसनी बा. एगो टीवी चैनल एही मसला पर पूरा एक घंटा के रपट परोस दिहलसि कि – प्रियंका चोपड़ा अपनापूरा पढ़ीं…

भोजपुरी के ई पारम्परिक सोहर गीत भोजपुरी फिलिम पिया के गाँव में फिलिमावल गइल रहुवे. एकर संगीत दिहले रहलें मशहूर संगीतकार चित्रगुप्त आ किरदार निभवले रही मीरा माधुरी. एह गीत के यू ट्यूब पर इण्डिया सिंह का नाम से फरवरी 2009 का दिने डालल गइल रहुवे आ तबसे एकरा केपूरा पढ़ीं…

भोजपुरी सिनेमा के अकेल इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल अबकी मलेशिया में 21 जुलाई 2018 के होखे जा रहल बा. एह अवार्ड समारोह के जानकारी देत यशी फिल्म्स के अभय सिन्हा बतवलें कि एह अवार्ड समारोह में भोजपुरी मेगास्टार मनोज तिवारी, हिन्दी फिल्मों के सुनील शेट्टी, भोजपुरी सुपरस्टार रविकिशन, दिनेशलाल यादव निरहुआ,पूरा पढ़ीं…

यू ट्यूब पर 13 करोड़ 5 लाख 67 हजार बार से अधिका बेर देखल गइल एह फिल्मी वीडियो के 70 हजार लोग नापसन्द कइले बा. बाकिर एही गाना के 2 लाख 42 हजार लोग पसन्दो कइले बा. भोजपुरी गीत गवनई का बारे में एकरा के महज एगो उदाहरण का रुपपूरा पढ़ीं…

भोजपुरी रंगमंच खातिर समर्पित नाट्य संस्था रंगश्री (स्थापित सन् 1978) आपन 5वाँ पाँच दिन चले वाला भोजपुरी नाट्य उत्सव के आयोजन, संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से आ स्टील अथारिटी आफ इण्डीया अउर मैथिली भोजपुरी अकादमी के विशेष सहयोग से फिनु दिल्ली में दिनांक 26 मार्च से 30 मार्चपूरा पढ़ीं…

भोजपुरी जन जागरण अभियान के भोजपुरिया सिपाहिओ एह सिनेमा में काम कर रहल बाड़े. भोजपुरी सिनेमा के माध्यम से भोजपुरी भाषा विश्व में अउर प्रभावशाली बनल बिया. जेतना सिनेमा सशक्त भइल बा ओतने साहित्यो सशक्त भइल बा. एही क्रम में एम भी ए फिल्मस के बैनर तले बने जा रहलपूरा पढ़ीं…

बरीसन से रितीज होखे के राह तिकवत भोजपुरी फिलिम “यादव पान भंडार” अब रिलीज होखे का लाइन में लाग गइल बा. आ एकरा साथही मनोज तिवारी लमहर दिन बाद सिनेमा का पर्दा पर लउकिहें. पीआरओ रंजन सिन्हा के भेजत एगो पोस्ट से एह बात के जानकारी मिलल बा कि भोजपुरीपूरा पढ़ीं…

– डॉ. रामरक्षा मिश्र विमल बड़की बलिहार आ नदिया के पार आजुए रामेंद्र के फोन आइल रहल हा कि बड़की बलिहार गइल रहलीं हा. नाँव सुनते ‘नदिया के पार’ फिल्म के याद आ गइल. एह सुपरहिट फिल्म के कहानी ओही गाँव के हटे. लोग कहेला कि एकदम साँच. केशव प्रसादपूरा पढ़ीं…

भोजपुरी सिनेमा पर फूहड़पन ले के हमेशा अंगुरी उठत रहेली सँ. एही अछरंग के मेटावे धोवे के कोशिश करत आवत बा बाबा मोशन पिक्‍चर्स जे भगवान आ भक्त के कहानी प अपना बनल फिलिम ‘डमरू’ से ई काम करी. भोजपुरी सिनेमा से दूर होखत दर्शकन के धारणा फेरु पवित्र करेपूरा पढ़ीं…

● अगर सिनेमा में जाए के सपना होखे ? ● फिलिम बनावे के चाहत होखे ? ● फिलिम के जुनून होखे ? ● सिनेमा के सफर में रुचि होखे ? ● सिनेकर्मी बने के चाहत होखे ? ● फिलिम निर्माण में कैरियर बनावे के होखे ? त बॉलीवुड सिनेमा स्कूलपूरा पढ़ीं…