जइसन कि हर सर्वे में होखेला, दि संडे इंडियनो का सर्वे में, जनमत के राय आ समीक्षकन का राय में अन्तर सामने आइल बा. आम दर्शकन का राय में दिनेश लाल यादव निरहुआ के सर्वश्रेष्ठ अभिनेता आ पाखी हेगडे के सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री मानल गइल बा. पवन सिंह आ रानी चटर्जी के लोग दुसरका जगह पर रखले बा.

समीक्षकन का राय में पहिला जगहा रहल रविकिशन आ रिंकू घोष आम लोग का सूची में तीसरका जगहा पर आइल बा लोग. बाकिर संगीत निर्देशकन का मामिला में ई अन्तर ओतना बड़ नइखे. आम लोग धनंजय मिश्र के पहिला जगहा त समीक्षक लोग दुसरा जगहा दिहले बा. समीक्षक लोग का राय में सर्वश्रेष्ठ संगीत निर्देशक मधुकर आनंद के मानल गइल बा जिनका के आम लोग तिसरका जगहा दिहले बा. दुसरका जगहा पर राजेश रजनीश के रखले बा आम लोग.

निर्देशक में आम लोग असलम शेख के सर्वश्रेष्ठ निर्देशक त समीक्षक लोग राजकुमार आर पाण्डेय के सर्वश्रेष्ठ निर्देशक मनले बा. राजकुमार पाण्डेय आम लोग का नजर में दुसरका जगहा पर त असलम शेख समीक्षकन का सूची में दुसरा जगहा पर रखाइल बाड़े.

अवधेश मिश्रा श्रेष्ठ खलनायक, मनोज टाइगर श्रेष्ठ हास्य अभिनेता, उदित नारायण श्रेष्ठ गायक, कल्पना श्रेष्ठ गायिका, विनय बिहारी श्रेष्ठ गीतकार, संतोष मिश्रा श्रेष्ठ पटकथालेखक, प्रवेश लाल यादव श्रेष्ठ डेब्यू अभिनेता, शूभी शर्मा श्रेष्ठ डेब्यू अभिनेत्री, कुणाल सिंह श्रेष्ठ चरित्र अभिनेता, रौशन जहाँगीर श्रेष्ठ चरित्र अभिनेत्री, संभावना सेठ श्रेष्ठ आयटम गर्ल, कानू मुखर्जी श्रेष्ठ नृत्य निर्देशक, अंजनी तिवारी श्रेष्ठ कला निर्देशक, आ शकील श्रेष्ठ एक्शन डायरेक्टर का रुप में सामने आइल बा लोग.

पिछला साल २००९ के सबले बढ़िया फिल्म भूमिपुत्र के मानल गइल आ दिवाना के दुसरका जगहा मिलल.

सबसे मजेदार बात जवने सामने आइल बा ओकरा अनुसार ४८ फीसदी लोग मानत बा कि भोजपुरी सिनेमा में अश्लीलता हिन्दी फिल्मन का मुकाबिले कम बा. मात्र चौदहे फीसदी लोग एकरा के बेसी मनले बा. जबकि भोजपुरी में अश्लीलता के बात गैर भोजपुरी लोग अकसरहा उठावत रहेला.

भोजपुरी सिनेमा के लोकप्रियता ओकरा संगीत का वजह से बा आ अधिकतर लोग के शिकायत बा कि भोजपुरी सिनेमा में भोजपुरी संस्कृति के झलक ना लउके. आ शायद एही चलते ६३ फीसदी लोग भोजपुरी सिनेमा के एह लायक नइखे मनले कि ओकरा के अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोहन में भेजल जाव.

एह सर्वे का बारे में पूरा जानकारी आ विवरण दि संडे इंडियन का नयका अंक भोजपुरी फिल्म विशेषांक में दिहल गइल बा, ओकरा के जरुर पढ़ीं.


(स्रोत – आशुतोष सिंह)

Advertisements