पिछला दिने मुंबई के लोखंडवाला इलाका में लायंस क्लब लोखंडवाला आ वुमेंस फार गुड गवर्वेस मिल के एगो कार्यक्रम कइलसि जवना में जेनरिक मेडिसिन अवेरनेस कार्यक्रम का तहत आशुतोष कुमार सिंह कहलन कि अगर रउरा रुपिया बचावे के बा त जेनरिक दवाइयन के इस्तेमाल करीं. बतवलन कि जेनरिक दवाइयों ब्रांडेडपूरा पढ़ीं…

Advertisements

– उत्पल बरूआ अपने उमिर के बाकी लोगन जस हमहू कबो राजनीति में रुचि ना रखली. हमरा एकरा से कवनो मतलब नइखे कि गुजरात में मोदी जीतिहें कि हरीहें. बाकि धन्यवाद बा राहुल गाँधी के जे अब हम राजनीतिक सभा के इंतजार करे लागल बानी खास कर के ओह मीटिंगनपूरा पढ़ीं…

आधुनिक काल के एगो महान खगोलविद् कार्ल सगन के कहना बा कि वैदिक खगोल विज्ञान के समय माप अकेला माप ह जवन आधुनिक समय माप से मेल खाला. अब चूंकि सगन नास्तिक रहले से मानल जा सकेला कि उनुका पर कवनो साम्प्रदायिक प्रभाव ना रहल होई. एगो दोसर खगोलविद् केपूरा पढ़ीं…

– ओम जी ‘प्रकाश’ रंडी, पतुरिआ का उपर फूंकाई! चोरी क पइसा त चोरी में जाई!! तिकड़म भिड़ा लिहलऽ, धन त कमा लिहलऽ मड़ई का जगहा तूँ कोठी उठा लिहलऽ नोकर आ चाकर से गाड़ी आ मोटर से दुअरा प मेला बा चमचन के रेला बा बाकिर ना अँखिया मेंपूरा पढ़ीं…

– शशि प्रेमदेव हे बाहुबली! बँहिआ में त हमहन के भी ओतने दम बा! बाकिर तहरा पाले लाठी, भाला, बनूखि, गोली, बम बा!! तहरे चरचा बा घरे घरे बाजे सगरो डंका तहरे काहें ना जोम देखइबऽ तूँ तहरा पेसाब से दिआ जरे चउकी से ले के चउका तक, तहरे तपूरा पढ़ीं…

हिन्दुस्तान टाइम्स पर अपना ब्लॉग में स्वतंत्र पत्रकार आकार पटेल लिखले बाड़न कि कांग्रेसी वोटरन के भल ही नीक ना लागे बाकिर गुजरात में कांग्रेस के हार के जवाबदेही सोनिया पर होखे के चाहीं. काहे कि उहे अपना राजनीतिक सचिव अहमद पटेल के गुजरात में दखल देबे के इजाजत दिहलेपूरा पढ़ीं…

टाइम्स आफ इंडिया पर अपना ब्लॉग में एम जे अकबर एह सवाल के उठावत लिखले बाड़न कि ठीक बा कि एगो पेड़ जंगल ना बनावे बाकिर जब कवनो सैद्धान्तिक चिरई झाड़ी से झाँके त पता लगावल जरूरी हो जाला कि मौसम बदले वाला बा का. आ ई चिरई त भगवापूरा पढ़ीं…

‍- सान्त्वना दिल्ली सरकार के मैथिली भोजपुरी अकादमी ३ नवंबर से ६ नवंबर ले रवीन्द्र भवन, मंढी हाउस, के कौस्तुभ सभागार में चार दिन के संगोष्ठी आयोजित कइलस. एह स्तरीय आ सार्थक आयोजन में शामिल भोजपुरि मैथिली साहित्य प्रेमियन आ साहित्यकारन के उछाह देखि के लागल कि अकादमी अपना पिछलापूरा पढ़ीं…

हादसा के दोस नइखे, हदस से मर गइल लोग. आजु जब बतकुच्चन करे बइठनी त पिछला हफ्ता छठ के दिन पटना में भइल हादसा याद पड़ गइल. ओह हादसा का बाद बयान देत मुख्यमंत्री के कहना रहल कि मौत हादसा का चलते ना भइल. लोग हदस में भाग चलल आपूरा पढ़ीं…

– जयंती पांडेय राम चेला बड़ा चिंता में बाबा लस्टमानंद के लगे अइले आ थहरा के बइठ गइले. बाबा पूछले कि उनका कवना बात के चिंता बा कि उनकर चेहरा उड़ल बा. राम चेला कहले, का कहीं बाबा कांग्रेस त पहिलहीं घोटाला में डूबल रहे अब भाजपो ओही पांक मेंपूरा पढ़ीं…

बीस बरीस पहिले अपना चरम पर चहुँपल राम जनमभूमि आन्दोलन का बारे में छद्म सम्प्रदाय निरपेक्षियन के कहना जीत गइल बा. सबले दुख के बात ई बा कि सगरी खुन आ बवाल से समझौता का रास्ते चल के बचल जा सकत रहे. ई कहना बा डा॰ सुब्रह्मण्यम स्वामी के. डेलीपूरा पढ़ीं…