बॉलीवुड के पहिला सुपर स्टार राजेश खन्ना यानि काका के निधन से पूरा देश में शोक के लहर पसरल बा. मनोजो तिवारी एह निधन से बेहद मर्माहत होत कहलें कि दारा सिंह के जुदा भइला के दुख भुलावे के कोशिशे करत रहीं जा कि काका के निधन हो गइल. पूरा भोजपुरी फिल्म उद्योग का तरफ से काका राजेश खन्ना के निधन पर शोक संवेदना जाहिर कइलें मनोज तिवारी. कहलन कि काका से उनुकर भेंट तीन बेर भइल रहे. पिछला बेर दादा साहेब फाल्के अवार्ड समारोह में मंच शेयर करत में बहुते अपनापन से बात भइल रहे. आ तब काका मुलाक़ात खातिर फेर आवे के कहले रहलें.

मनोज तिवारी कहलें कि काका अमर बाड़ें आ हमनी के ‘जीना यहां, मरना यहां, इसे सिवा जाना कहां…’ गीत के बोल बरबस याद आ जात बा. ओही तरह राजेश खन्ना के याद करत ‘ज़िन्दगी के सफर में गुज़र जाते हैं जो मकाम, वो फिर नहीं आते….’ गीत के बोल याद आ जात बा.


(शशिकांत सिंह रंजन सिन्हा के रपट)

Advertisements