हमारे समाज में जिन्होंने कुछ अलग हट कर काम किये हैं, समाज के लोग पहले उन्हें पागल और लखैरा कहते हैं, लेकिन ऐसे ही पागल लोग कुछ बन जाते हैं तो पूरा समाज उनके पीछे खड़ा होता है. सुकृत फिल्म्स एवं जन एकता फिल्म के बैनर तले बनी भोजपुर फिल्म ‘लखैरा’ की कहानी भी कुछ इसी तरह से है जिसके निर्माता कृष्णा यादव और निर्देशक संजय सिन्हा हैं. इस फिल्म के लेखक चुनमुन पंडित, संगीतकार अमन श्लोक, गीतकार मो. जहीरुद्दीन बेग और अरविन्द तिवारी हैं. फिल्म के नृत्य निर्देशक केदार सुब्बा, एक्शन मास्टर गब्बर सिंह तथा कैमरामैन शानु सिन्हा हैं. इस फिल्म में मनोज दाव, कल्पना शाह, आलोक यादव, सुबोध सेठ, मनीष महिवाल, निरुपमा श्री, मनीष चतुर्वेदी, निलोफर, जीतेन, तेज, रीमा सिंह, मास्टर चंद्र प्रकाश, मास्टर तबिश व अन्य कलाकार हैं. फिल्म का आइटम गीत इशा पटेल पर फिल्माया गया है. इस फिल्म को जन एकता कंस्ट्रक्शन सर्विसेस इंडिया लि. ने प्रस्तुत किया है. फिल्म के बारे में निर्देशक संजय सिंन्हा ने बताया कि ‘लखैरा’ की कहानी तीन ऐसे दोस्तों की है, जिसे समाज लखैरा कहता है, लेकिन बाद में यही तीनों दोस्त कुछ ऐसा कर गुज़रते हैं कि समाज के लोग उन्हें अपने सर आंखों पर बिठा लेते हैं.


(स्रोत – समरजीत)

Advertisements